भारत के यवन राज्य | yavan states of India

भारत के यवन राज्य | yavan states of India | भारत पर आक्रमण करने वाले विदेशी आक्रमणकारियों का क्रम :- हन्दू-यूनानी ->शक ->पह्लव ->कुषाण है

भारत के यवन राज्य | yavan states of India

भारत पर आक्रमण करने वाले विदेशी आक्रमणकारियों का क्रम :- हन्दू-यूनानी ->शक ->पल्लव->कुषाण है. सेल्यूकस द्वारा स्थापित पश्चिमी तथा मध्य एशिया के विशाल साम्राज्य को इसके उतराधिकारी एंटीओकस प्रथम ने अक्षुण्ण बनाए रखा. एंटीओकस 2 के शासनकाल में विद्रोह के फलस्वरूप उसके अनेक प्रान्त स्वतंत्र ही गए थे.

बैक्टिया के विद्रोह का नेतृत्व डियोडॉट्स प्रथम ने किया था. बैक्टिया पर डियोडॉट्स प्रथम के साथ इन राजाओं ने क्रमशः राज किया था :- डियोडॉट्स 2, यूथिडेमस, डेमिट्रियस, मिनांदर, यूक्रेटाईडस, एंटी आल्कीड्स तथा हर्मिक्स.

यह भी देखे :- ब्राह्मण साम्राज्य | Brahmin kingdom

भारत पर सबसे पहले आक्रमण बैक्टिया के शासक डेमिट्रियस ने किया था. इसने 190 ईसा पूर्व में भारत पर आक्रमण कर अफगानिस्तान, पंजाब व सिंध के बहुत बड़े स्थान पर अधिकार कर लिया था. इसने शाकल को अपनी राजधानी बनाई थी. इसे ही हिन्दू- यूनानी या कहा गया है.

भारत के यवन राज्य | yavan states of India
भारत के यवन राज्य | yavan states of India
यह भी देखे :- सम्राट अशोक का शासनकाल

हिन्द यूनानी शासकों में सबसे विख्यात शासक मिनान्डर हुआ था. इसकी राजधानी शाकल शिक्षा का प्रमुख केंद्र थी. मिनान्डर ने बौद्ध धर्म की दीक्षा नागसेन से ली थी. मिनान्डर के प्रश्न व नागसेन द्वारा दिए गए उतर एक पुस्तक में संगृहित है, जिसका नाम मिलिंदपन्हो अर्थात मिलिंद के प्रश्न या मिलिंदप्रश्न.

See also  भारतीय राष्ट्रीय पंचांग

हिन्द-यूनानी भात्रत के पहले शासक हुए जिनके जारी किए गए सिक्के के बारें में निश्चित रूप से कहा जा सकता है, की यह सिक्के किन किन राजाओं के है. भारत में सबसे पहले हिन्द-यूनानियों ने ही सोने के सिक्के का प्रचलन किया था.

हिन्द-यूनानी शासकों ने भारत के पश्चिम उतर सीमा प्रान्त में यूनान की प्राचीन कला चलाई जिसे हेलेनिस्टिक आर्ट कहा जाता है. भारत में गंधार कला इसका उत्तम उदहारण है.

यूनानियों ने परदे का प्रचलन कर भारतीय नाट्यकला के विकास में योगदान किया. चूँकि परदा यूनानियों की देन था इसलिए इसका नाम यवनिका प्रसिद्ध हुआ था.

यह भी देखे :- सम्राट अशोक के अभिलेख

भारत के यवन राज्य

Q 1. भारत पर आक्रमण करने वाले विदेशी आक्रमणकारियों का क्रम क्या है?
See also  परमार वंश

Ans भारत पर आक्रमण करने वाले विदेशी आक्रमणकारियों का क्रम :- हन्दू-यूनानी ->शक ->पह्लव ->कुषाण है.

Q 2. सेल्यूकस का उतराधिकारी कौन था?

Ans सेल्यूकस का उतराधिकारी एंटीओकस प्रथम था.

Q 3. बैक्टिया के विद्रोह का नेतृत्व किसने किया था?

Ans बैक्टिया के विद्रोह का नेतृत्व डियोडॉट्स प्रथम ने किया था.

Q 4. भारत पर सबसे पहले आक्रमण बैक्टिया के किस ने किया था?

Ans भारत पर सबसे पहले आक्रमण बैक्टिया के शासक डेमिट्रियस ने किया था.

Q 5. डेमिट्रियस ने अपनी राजधानी कहाँ बनाई थी?

Ans डेमिट्रियस ने शाकल को अपनी राजधानी बनाई थी.

Q 6. हिन्द यूनानी शासकों में सबसे विख्यात शासक कौन हुआ था?

Ans हिन्द यूनानी शासकों में सबसे विख्यात शासक मिनान्डर हुआ था.

Q 7. मिनान्डर ने बौद्ध धर्म की दीक्षा किससे ली थी?
See also  सैय्यद राजवंश | Sayyid Dynasty

Ans मिनान्डर ने बौद्ध धर्म की दीक्षा नागसेन से ली थी

Q 8. हेलेनिस्टिक आर्ट किसे कहा जाता है?

Ans हिन्द-यूनानी शासकों ने भारत के पश्चिम उतर सीमा प्रान्त में यूनान की प्राचीन कला चलाई जिसे हेलेनिस्टिक आर्ट कहा जाता है.

Q 9. भारतीय नाट्यकला में परदे का प्रचलन किसने किया था?

Ans भारतीय नाट्यकला में परदे का प्रचलन यूनानियों ने किया था.

Q 10. भारत में सबसे पहले किसने सोने के सिक्के का प्रचलन किया था?

Ans भारत में सबसे पहले हिन्द-यूनानियों ने ही सोने के सिक्के का प्रचलन किया था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- सम्राट अशोक का सामान्य परिचय

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment