इटली का एकीकरण क्या है | unification of italy

इटली का एकीकरण क्या है | unification of italy | इतालवी भाषा में इटली एकीकरण को इल रिसोरजिमेंतो कहते हैं. 19वीं सदी में इटली में एक सामाजिक तथा राजनैतिक अभियान की शुरुआत की गई थी.

इटली का एकीकरण क्या है | unification of italy

इतालवी भाषा में इटली एकीकरण को इल रिसोरजिमेंतो कहते हैं. 19वीं सदी में इटली में एक सामाजिक तथा राजनैतिक अभियान की शुरुआत की गई थी. इस अभियान ने इटली प्रायद्वीप के विभिन्न राज्यों को संगठित करके एक इतालवी राष्ट्र बना दिया. इस राष्ट्र को इटली कहा गया. यह एकीकरण इटली पर नेपोलियन बोनापार्ट के सन् 1815 ई. में शासन के समाप्त पर होने वाले वियेना सम्मलेन के साथ शुरू हुआ तथा राजा वित्तोरियो इमानुएले की सेनाओं द्वारा 1870 ई. में रोम पर कब्‍जा होने तक चला.

यह भी देखे :- सिख धर्म के गुरु | Guru of Sikhism

19 वी सदी के पूर्वार्द्ध में इटली में 13 राज्य थे. इटली के एकीकरण का जनक जोसेफ मोजिनी को माना जाता है. मेजिनी का जन्म जेनेवा में हुआ था. इटली के एकीकरण का सबसे बड़ा बाधक आस्ट्रिया था.इस एकीकरण में सार्डीनिया पीडमौंटा राज्य ने अगुआई की थी.

इटली का एकीकरण क्या है | unification of italy
इटली का एकीकरण क्या है | unification of italy

इटली की समस्या को काउंट कावूर ने अंतर्राष्ट्रीय समस्या बनाया था. इटली के एकीकरण की तलवार गैरीबाल्डी को कहा जाता है. इस एकीकरण का श्रेय मेजिनी, काउंट कावूर व गैरीबाल्डी को दिया जाता है.

यह भी देखे :- सिक्ख तथा अंग्रेज part 2 | Sikh and English

यंग इटली की स्थापना 1831 ई. में जोसेफ मेजिनी ने की थी. कर्बोनरी सोसायटी का संस्थापक गिवर्टी था. विक्टर एमैनुएल सार्डिनीया का शासक था. इटली के एकीकरण की शुरुआत लोम्बार्डी व सार्डिनीया राज्यों के मेल से हुई थी.

See also  इंग्लैंड में क्रांति | revolution in England

इटली राष्ट्र का जन्म 2 अप्रैल 1860 ई. को माना जाता है. 1871 ई. में रोम को संयुक्त इटली की राजधानी घोषित किया गया था. “यदि समाज में क्रांति लानी हो तो क्रांति का नेतृत्व नवयुवकों के हाथ में दे दे” यह कथन जोसेफ मेजिनी का है.

इटली का एकीकरण 1871 ई. में काउंट कावूर ने किया था. इटली की एकता का जन्मदाता नेपोलियन था.

यह भी देखे :-सिक्ख तथा अंग्रेज part 1 | Sikh and English

इटली का एकीकरण क्या है FAQ

Q 1. इतालवी भाषा में इटली एकीकरण को क्या कहते हैं?

Ans इतालवी भाषा में इटली एकीकरण को इल रिसोरजिमेंतो कहते हैं.

Q 2. इटली का एकीकरण इटली कब शुरू हुआ था?

Ans इटली का एकीकरण इटली पर नेपोलियन बोनापार्ट के सन् 1815 ई. में शासन के समाप्त पर होने वाले वियेना सम्मलेन के साथ शुरू हुआ था.

See also  फ्रांस की राज्यक्रांति | French Revolution
Q 3. इटली का एकीकरण कब तक चला था?

Ans इटली का एकीकरण राजा वित्तोरियो इमानुएले की सेनाओं द्वारा 1870 ई. में रोम पर कब्‍जा होने तक चला था.

Q 4. 19 वी सदी के पूर्वार्द्ध में इटली में कितने राज्य थे?

Ans 19 वी सदी के पूर्वार्द्ध में इटली में 13 राज्य थे.

Q 5. इटली के एकीकरण का जनक किसको माना जाता है?

Ans इटली के एकीकरण का जनक जोसेफ मोजिनी को माना जाता है.

Q 6. मेजिनी का जन्म कहाँ हुआ था?

Ans मेजिनी का जन्म जेनेवा में हुआ था.

Q 7. इटली के एकीकरण का सबसे बड़ा बाधक कौन था?

Ans इटली के एकीकरण का सबसे बड़ा बाधक आस्ट्रिया था.

Q 8. इटली का एकीकरण में किस राज्य ने अगुआई की थी?

Ans इटली का एकीकरण में सार्डीनिया पीडमौंटा राज्य ने अगुआई की थी.

Q 9. इटली की समस्या को किसने अंतर्राष्ट्रीय समस्या बनाया था?

Ans इटली की समस्या को काउंट कावूर ने अंतर्राष्ट्रीय समस्या बनाया था.

Q 11. इटली के एकीकरण का श्रेय किन-किन को दिया जाता है?

Ans इटली के एकीकरण का श्रेय मेजिनी, काउंट कावूर व गैरीबाल्डी को दिया जाता है.

Q 12. यंग इटली की स्थापना किसने व कब किया था?

Ans यंग इटली की स्थापना 1831 ई. में जोसेफ मेजिनी ने की थी.

Q 13. कर्बोनरी सोसायटी का संस्थापक कौन था?

Ans कर्बोनरी सोसायटी का संस्थापक गिवर्टी था.

Q 14. इटली राष्ट्र का जन्म कब माना जाता है?

Ans इटली राष्ट्र का जन्म 2 अप्रैल 1860 ई. को माना जाता है.

Q 15. “यदि समाज में क्रांति लानी हो तो क्रांति का नेतृत्व नवयुवकों के हाथ में दे दे” यह कथन किसका है?

Ans “यदि समाज में क्रांति लानी हो तो क्रांति का नेतृत्व नवयुवकों के हाथ में दे दे” यह कथन जोसेफ मेजिनी का है.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- विजयनगर साम्राज्य की शासन व्यवस्था

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment