सोलंकी राजवंश | solanki dynasty

सोलंकी राजवंश | solanki dynasty | मूलराज प्रथम गुजरात के सोलंकी राजवंश का संस्थापक था। मूलराज प्रथम ने अपनी राजधानी अन्हिलवाड़ को बनाई थी

सोलंकी राजवंश | solanki dynasty

मूलराज प्रथम गुजरात के सोलंकी वंश का संस्थापक था। मूलराज प्रथम ने अपनी राजधानी अन्हिलवाड़ को बनाई थी। 942 से 995 ई. तक मूलराज ने शासन किया था।

995 से 1008 ई. तक मूलराज का पुत्र चामुण्डाराय, अन्हिलवाड़ का शासक रहा। मूलराज के पुत्र दुर्लभराज ने 1008 से 1022 ई. तक शासन किया।

यह भी देखे :- चौहान राजवंश | Chauhan dynasty

भीम प्रथम के शासनकाल में महमूद गजनी ने सोमनाथ मंदिर पर आक्रमण किया था. सोलंकी वंश का सर्वाधिक शक्तिशाली शासक दुर्लभराज का भतीजा भीम प्रथम था। भीम प्रथम के सामंत बिमल ने आबू पर्वत पर दिलवाड़ा का प्रसिद्ध जैन मंदिर बनवाया था.

सोलंकी राजवंश | solanki dynasty
सोलंकी राजवंश | solanki dynasty

सोलंकी वंश का प्रथम शक्तिशाली शासक जयसिंह सिद्धराज था. प्रसिद्ध जैन विद्वान हेमचन्द्र, जय सिंह सिद्धराज के दरबार में रहता था. माउन्ट आबू पर्वत पर जयसिंह ने एक मंडप बनवा कर अपने सांतों पूर्वजों की गजारोही मूर्तियाँ स्थापित की थी.

यह भी देखे :- पाल राजवंश | Pala Dynasty

मोढेरा के सूर्यमंदिर का निर्माण सोलंकी शासकों के समय हुआ था. सिद्धपुर में रुद्रमहकाल के मंदिर का निर्माण जयसिंह सिद्धराज ने करवाया था.

See also  भारत के यवन राज्य | yavan states of India

सोलंकी शासक कुमारपाल जैन मत का अनुनायी था. यह जैन धर्म के अंतिम राजकीय प्रवर्तक के रूप में प्रसिद्ध है. सोलंकी वंश का अंतिम शासक भीम द्वितीय था.

भीम द्वितीय के सामंत लवण प्रसाद ने गुजरात में बघेल वंश की स्थापना की थी. बघेल वंश का कर्ण 2 गुजरात का अंतिम हिन्दू शासक था. इसने अलाउद्दीन खिलजी की सेना का मुकाबला किया था.

पाटन तथा काठियावाड़ राज्यों तक सोलंकी वंश का अधिकार था। सोलंकी वंश के शासक 9वीं शताब्दी से 13वीं शताब्दी तक शासन करते रहे थे। सोलंकी वंश को गुजरात का चालुक्य भी कहा जाता था। सोलंकी वंश के लोग मूलत: अग्निवंश व्रात्य क्षत्रिय हैं व दक्षिणापथ के हैं परन्तु जैन मुनियों के प्रभाव से यह लोग जैन संप्रदाय में जुड़ गए।

यह भी देखे :- चंदेल राजवंश | Chandela Dynasty

सोलंकी राजवंश FAQ

Q 1. गुजरात के सोलंकी वंश का संस्थापक कौन था

Ans मूलराज प्रथम गुजरात के सोलंकी वंश का संस्थापक था.

Q 2. मूलराज प्रथम ने अपनी राजधानी कहाँ स्थापित की थी?
See also  मगध राज्य का उत्कर्ष | The rise of Magadha kingdom

Ans मूलराज प्रथम ने अपनी राजधानी अन्हिलवाड़ में स्थापित की थी.

Q 3. मूलराज ने कब तक शासन किया था?

Ans 942 से 995 ई. तक मूलराज ने शासन किया था.

Q 4. मूलराज का पुत्र कौन था?

Ans मूलराज का पुत्र चामुण्डाराय था.

Q 5. चामुण्डाराय ने कब से कब तक शासन किया था?

Ans चामुण्डाराय 995 से 1008 ई. तक शासन किया था.

Q 6. मूलराज के पुत्र दुर्लभराज ने कब तक शासन किया था?

Ans मूलराज के पुत्र दुर्लभराज ने 1008 से 1022 ई. तक शासन किया.

Q 7. किस के शासनकाल में महमूद गजनी ने सोमनाथ मंदिर पर आक्रमण किया था?

Ans भीम प्रथम के शासनकाल में महमूद गजनी ने सोमनाथ मंदिर पर आक्रमण किया था.

Q 8. सोलंकी वंश का सर्वाधिक शक्तिशाली शासक कौन था?

Ans सोलंकी वंश का सर्वाधिक शक्तिशाली शासक दुर्लभराज का भतीजा भीम प्रथम था.

Q 9. भीम प्रथम के सामंत कौन था?

Ans भीम प्रथम के सामंत बिमल था.

Q 10. आबू पर्वत पर दिलवाड़ा का प्रसिद्ध जैन मंदिर किसने करवाया था?

Ans सामंत बिमल ने आबू पर्वत पर दिलवाड़ा का प्रसिद्ध जैन मंदिर बनवाया था.

See also  टोंक का मुस्लिम राज्य
Q 11. सोलंकी वंश का प्रथम शक्तिशाली शासक कौन था?

Ans सोलंकी वंश का प्रथम शक्तिशाली शासक जयसिंह सिद्धराज था.

Q 12. जैन धर्म के अंतिम राजकीय प्रवर्तक के रूप में कौन प्रसिद्ध है?

Ans जैन धर्म के अंतिम राजकीय प्रवर्तक के रूप में जयसिंह सिद्धराज प्रसिद्ध है.

Q 13. सोलंकी वंश का अंतिम शासक कौन था?

Ans सोलंकी वंश का अंतिम शासक भीम द्वितीय था.

Q 14. भीम द्वितीय के सामंत लवण प्रसाद ने गुजरात में किस वंश की स्थापना की थी?

Ans भीम द्वितीय के सामंत लवण प्रसाद ने गुजरात में बघेल वंश की स्थापना की थी.

Q 15. गुजरात का अंतिम हिन्दू शासक कौन था?

Ans बघेल वंश का कर्ण 2 गुजरात का अंतिम हिन्दू शासक था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- कश्मीर के राजवंश | dynasty of Kashmir

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment