शिवाजी के उत्तराधिकारी part 2 | Shivaji’s successor

शिवाजी के उत्तराधिकारी part 2 | Shivaji’s successor | बाजीराव प्रथम की मृत्यु के बाद बालाजी बाजीराव 1740 ई. में पेशवा बने थे. 1750 ई. में संगोला की संधि के बाद पेशवा के हाथ में सारे अधिकार सुरक्षित हो गए थे

शिवाजी के उत्तराधिकारी part 2 | Shivaji’s successor

झलकी की संधि निजाम व बालाजी के मध्य युई थी. बालाजी बाजीराव को नानासाहब के नाम से भी जाना जाता था.

बालाजी बाजीराव के समय में ही पानीपत का तृतीय युद्ध [14 जनवरी 1761 ई.] हुआ था, जिसमें मराठों की पराजय हुई थी. इस हार को नहीं सहने के कारण बालाजी की मृत्यु 1761 ई. में हो गई थी.

माधवराय नारायण प्रथम 1761 ई. में नया पेशवा बना था. इसने मराठों की खोई हुई प्रतिष्ठा को पुनः प्राप्त करने प्रयास किया था. माधवराय ने ईस्ट इंडिया कंपनी की पेंशन पर रह रहे मुगल बादशाह शाह आलम 2 को पुनः दिल्ली की गद्दी पर बैठाया था. मुग़ल बादशाह अब मराठों का पेंशनभोगी बन गया था.

यह भी देखे :- शिवाजी के उत्तराधिकारी part 1 | Shivaji’s successor

पेशवा नारायण राव की हत्या उसके चाचा रघुनाथ राव के द्वारा कर दी गई थी. पेशवा माधवराव नारायण 2 की अल्पायु के कारण मराठा राज्य की देख-भाल बारहभाई नाम की 12 सदस्यों की एक परिषद् करती थी.

इस परिषद् के दो महत्वपूर्ण सदस्य थे :- महादजी सिंधिया व नाना फड़नबीस. नाना फड़नबीस का मूल नाम बालाजी जनार्दन भानु था. अंग्रेज जेम्स ग्रांट डफ ने इन्हें मराठों का मैकियावेली कहा था.

शिवाजी के उत्तराधिकारी part 2 | Shivaji’s successor
शिवाजी के उत्तराधिकारी

अंतिम पेशवा राघोवा का पुत्र बाजीराव 2 था, जो अंग्रेजों की सहयता से पेशवा बना था. मराठों के पतन में सर्वाधिक योगदान इसी का था. यह सहायक संधि स्वीकार करने वाला प्रथम मराठा सरदार था.

See also  बहमनी सल्तनत | Bahmani Sultanate

अंग्रेज मराठा संघर्ष के अंतर्गत होने वाली प्रमुख संधियाँ

  • सूरत की संधि 1775 ई.
  • पुरंदर की संधि 1776 ई.
  • बड़गांव की संधि 1779 ई.
  • सालाबाई की संधि 1782 ई.
  • बसीन की संधि 1802 ई.
  • देवगांव की संधि 1803 ई.
  • सुर्जी अर्जुनगांव की संधि 1803 ई.
  • राजापुर घाट की संधि 1804 ई.
  • नागपुर की संधि 1816 ई.
  • ग्वालियर की संधि 1817 ई.
  • पूना की संधि 1817 ई.
  • मंदसौर की संधि 1818 ई.

1776 ई. में पुरंदर की संधि हुई थी. इसके तहत कंपनी ने रघुनाथ राव के समर्थन को वापस ले लिया था.

यह भी देखे :- मराठों की शासन व्यवस्था | Maratha rule

आंग्ला-मराठा युद्ध :-

  1. प्रथम आंग्ला-मराठा युद्ध :- प्रथम युद्ध 1782 ई. में सालिबाई की संधि के साथ ख़त्म हुआ था.
  2. द्वितीय आंग्ला-मराठा युद्ध :-1803-05 ई. में हुआ था. इसमें भोंसले ने अंग्रेजों को चुनौती दी थी. इसके फलस्वरूप 7 सितम्बर 1803 ई. को देवगांव की संधि हुई थी.
  3. तृतीय आंग्ला-मराठा युद्ध :- 1817-19 ई. में हुआ था. इस युद्ध के बाद मराठा शक्ति व पेशवा के वंशानुगत पद को समाप्त कर दिया गया था.

पेशवा बाजीराव द्वितीय ने कोरेगाँव व अष्टि के युद्ध में हरने के बाद फरवरी 1818 ई. में मेल्कम के सम्मुख आत्मसमपर्ण कर दिया था. अंग्रेजों ने पेशवा के पद को समाप्त कर बाजीराव द्वितीय को पुणे से हटाकर कानपुर के निकट बिठुर में पेंशन पर जीने के लिए भेज दिया, जहाँ 1853 ई. में उसकी मृत्यु हो गई थी.

यह भी देखे :- गुलाम वंश part 1 | slave dynasty

शिवाजी के उत्तराधिकारी part 2 FAQ

Q 1. बाजीराव प्रथम की मृत्यु के बाद कौन पेशवा बने थे?
See also  सूफी आन्दोलन | Sufi Movement

Ans बाजीराव प्रथम की मृत्यु के बाद बालाजी बाजीराव पेशवा बने थे.

Q 2. बालाजी बाजीराव पेशवा कब बने थे?

Ans बालाजी बाजीराव 1740 ई. में पेशवा बने थे.

Q 3. किस संधि के बाद पेशवा के हाथ में सारे अधिकार सुरक्षित हो गए थे?

Ans संगोला की संधि के बाद पेशवा के हाथ में सारे अधिकार सुरक्षित हो गए थे.

Q 4. संगोला की संधि कब हुई थी?

Ans 1750 ई. में संगोला की संधि हुई थी.

Q 5. झलकी की संधि किन-किन के मध्य युई थी?

Ans झलकी की संधि निजाम व बालाजी के मध्य युई थी.

Q 6. बालाजी बाजीराव को किस नाम से भी जाना जाता था?

Ans बालाजी बाजीराव को नानासाहब के नाम से भी जाना जाता था..

Q 7. किस पेशवा के समय में ही पानीपत का तृतीय युद्ध हुआ था?

Ans बालाजी बाजीराव के समय में ही पानीपत का तृतीय युद्ध हुआ था.

Q 8. पानीपत का तृतीय युद्ध कब हुआ था?

Ans पानीपत का तृतीय युद्ध 14 जनवरी 1761 ई. में हुआ था.

See also  स्वतंत्र प्रांतीय राज्य बंगाल व मालवा | Bengal and Malwa
Q 9. किस हार को नहीं सहने के कारण बालाजी की मृत्यु हो गई थी?

Ans पानीपत का तृतीय की हार को नहीं सहने के कारण बालाजी की मृत्यु हो गई थी.

Q 10. बालाजी की मृत्यु कब हुई थी?

Ans बालाजी की मृत्यु 1761 ई. में हुई थी.

Q 11. पेशवा नारायण राव की हत्या किसने की थी?

Ans पेशवा नारायण राव की हत्या उसके चाचा रघुनाथ राव के द्वारा कर दी गई थी.

Q 12. पेशवा माधवराव नारायण 2 की अल्पायु के कारण मराठा राज्य की देख-रेख कौनसी सभा करती थी?

Ans पेशवा माधवराव नारायण 2 की अल्पायु के कारण मराठा राज्य की देख-भाल बारहभाई सभा नाम की 12 सदस्यों की एक परिषद करती थी.

Q 13. बारहभाई सभा के दो महत्वपूर्ण सदस्य कौन-कौन थे?

Ans बारहभाई सभा के दो महत्वपूर्ण सदस्य थे :- महादजी सिंधिया व नाना फड़नबीस.

Q 14. नाना फड़नबीस का मूल नाम क्या था?

Ans नाना फड़नबीस का मूल नाम बालाजी जनार्दन भानु था.

Q 15. अंतिम पेशवा कौन था?

Ans अंतिम पेशवा राघोवा का पुत्र बाजीराव 2 था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- शिवाजी का सामान्य परिचय 

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment