तुगलक वंश के शासक part 1 | Rulers of Tughlaq Dynasty

तुगलक वंश के शासक part 1 | Rulers of Tughlaq Dynasty | 5 सितम्बर 1320 ई. को खुशरो खां को पराजित करके गाजी मलिक या तुगलक गाजी गयासुद्दीन तुगलक नाम से दिल्ली के सिंहासन पर बैठा था

तुगलक वंश के शासक part 1 | Rulers of Tughlaq Dynasty

गयासुद्दीन ने अलाउद्दीन के समय में ली गई अमीरों की भूमि को लौटा दिया था.

इसने सिंचाई के लिए कुँए व नहरों का निर्माण करवाया था. संभवतः नहरों का निर्माण करने वाला गयासुद्दीन प्रथम शासक था. इसने दिल्ली के निकट स्थित पहाड़ियों पर तुगलकाबाद नाम ओका एक नया नगर बसाया था. रोमन शैली में निर्मित इस नगर में एक दुर्ग का भी निर्माण हुआ था. इस दुर्ग को छप्पनकोट ने नाम से जाना जाता है.

गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु 1325 ई. में बंगाल अभियान से लौटते समय जूना खां द्वारा निर्मित लकड़ी के महल में दबकर हुई थी. गयासुद्दीन के बाद उलुग खां या जूना खां मुहम्मद बिन तुगलक के नाम से 1325 ई. सिंहासन पर बैठा था.

यह भी देखे :- बहमनी सल्तनत | Bahmani Sultanate

मध्यकालीन सभी सुल्तानों में मुहम्मद तुगलक सर्वाधिक शिक्षित, विद्वान व योग्य था. मुहम्मद बिन तुगलक को अपनी सनक भरी योजनाओं, क्रूर कृत्य व दुसरे के सुख-दुःख के प्रति उपेक्षा भाव रखने के कारण स्वपनशील, पागल व रक्तपिपासु कहा गया है.

मुहम्मद बिन तुगलक ने कृषि विकास के लिए अमीर-ए-कोही नामक नवीन विभाग की स्थापना की थी. मुहम्मद बिन तुगलक ने अपनी राजधानी दिल्ली से देवगिरी स्थानांतरण की व इसका नाम दौलताबाद बाद रखा गया था.

तुगलक वंश के शासक part 1 | Rulers of Tughlaq Dynasty
तुगलक वंश के शासक

मुहम्मद बिन तुगलक अपने प्रत्येक मलिक के सम्मान में दो पोशाक दिया करता था :- एक जाड़े में व दूसरी गर्मी मे. कहा जाता है की डाक प्रबंधों के द्वारा मुहम्मद बिन तुगलक के लिए ताजे फल व पीने के लिए गंगाजल मंगवाया जाता था.

See also  कछवाहा राजवंश

सांकेतिक मुद्रा के अंतर्गत मुहम्मद बिन तुगलक ने कांसा व तांबे की धातुओं के सिक्के चलाए थे, जिनका मूल्य चांदी के रूपये टंका के बराबर होता था. एडवर्ड थॉमस ने मुहम्मद बिन तुगलक को प्रिंस ऑफ़ मनीअर्स की संज्ञा दी थी.

यह भी देखे :- उत्तरकालीन मुगल सम्राट | later Mughal emperors

अफ़्रीकी यात्री इब्न बतूता लगभग 1333 ई. में भारत आया था. सुल्तान ने इसे दिल्ली का काजी नियुक्त किया था. 1342 ई. में सुल्तान ने इसे अपने राजदूत के रूप में चीन भेजा था.

मुहम्मद तुगलक के समय जिया नक्शबी पहला यक्ति था जिसने संस्कृत कथाओं की श्रृंखला का फारसी में अनुवाद किया था. इस पुस्तक का नाम तूती नामा था. इस पुस्तक में एक तोता ऐसी विरहिणी नायिका की कहानी सुनाता है, जिसका पति यात्रा पर गया है.

मुहम्मद तुगलक ने जिन प्रभु सूरी नामक जैन साधू को अपने दरबार में बुलाकर सम्मान प्रदान किया था. मुहम्मद बिन तुगलक की मृत्यु 20 मार्च 1351 ई. को सिंध जाते वक्त थट्टा के निकट गोडाल में हो गई थी.

यह भी देखे :- खिलजी वंश की शासन व्यवस्था | Khilji dynasty rule

तुगलक वंश के शासक part 1 FAQ

Q 1. खुशरो खां को पराजित कर कौन दिल्ली के सिंहासन पर बैठा था?
See also  मध्यकालीन न्याय व्यवस्था

Ans खुशरो खां को पराजित करके “गाजी मलिक या तुगलक गाजी” “गयासुद्दीन तुगलक” नाम से दिल्ली के सिंहासन पर बैठा था.

Q 2. गयासुद्दीन तुगलक दिल्ली के सिंहासन पर कब बैठा था?

Ans 5 सितम्बर 1320 ई. को गयासुद्दीन तुगलक दिल्ली के सिंहासन पर बैठा था.

Q 3. अलाउद्दीन के समय में ली गई अमीरों की भूमि को किसने लौटा दिया था?

Ans गयासुद्दीन ने अलाउद्दीन के समय में ली गई अमीरों की भूमि को लौटा दिया था.

Q 4. नहरों का निर्माण करने वाला प्रथम शासक कौन था?

Ans संभवतः नहरों का निर्माण करने वाला गयासुद्दीन प्रथम शासक था.

Q 5. दिल्ली के निकट स्थित पहाड़ियों पर तुगलकाबाद नामक एक नया नगर किसने बसाया था?

Ans गयासुद्दीन ने दिल्ली के निकट स्थित पहाड़ियों पर तुगलकाबाद नामक एक नया नगर बसाया था.

Q 6. गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु कब हुई थी?

Ans गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु 1325 ई. में हुई थी.

Q 7. गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु कहाँ हुई थी?

Ans गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु बंगाल अभियान से लौटते समय हुई थी.

Q 8. गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु कैसे हुई थी?

Ans गयासुद्दीन तुगलक की मृत्यु जूना खां द्वारा निर्मित लकड़ी के महल में दबकर हुई थी.

Q 10. उलुग खां या जूना खां किस नाम से सिंहासन पर बैठा था?

Ans उलुग खां या जूना खां मुहम्मद बिन तुगलक के नाम से सिंहासन पर बैठा था.

Q 11. मुहम्मद बिन तुगलक सिंहासन पर कब बैठा था?

Ans मुहम्मद बिन तुगलक 1325 ई. में सिंहासन पर बैठा था.

Q 12. मध्यकालीन सभी सुल्तानों में से सर्वाधिक शिक्षित, विद्वान व योग्य शासक कौन था?

Ans मध्यकालीन सभी सुल्तानों में मुहम्मद तुगलक सर्वाधिक शिक्षित, विद्वान व योग्य शासक था.

Q 13. मुहम्मद बिन तुगलक ने कृषि विकास के लिए किस नवीन विभाग की स्थापना की थी?

Ans मुहम्मद बिन तुगलक ने कृषि विकास के लिए अमीर-ए-कोही नामक नवीन विभाग की स्थापना की थी.

Q 14. मुहम्मद बिन तुगलक की मृत्यु कब हुई थी?

Ans मुहम्मद बिन तुगलक की मृत्यु 20 मार्च 1351 ई. को हो गई थी.

Q 15. मुहम्मद बिन तुगलक की मृत्यु कहाँ हुई थी?

Ans मुहम्मद बिन तुगलक की मृत्यु सिंध जाते वक्त थट्टा के निकट गोडाल में हो गई थी.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- खिलजी वंश के शासक | Rulers of Khilji Dynasty

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment