रूठी रानी

रूठी रानी | 1536 ई. में मालदेव का विवाह उम्मादे से हुआ मालदेव उम्मादे से हुआ. अप्रसन्न हो गया और वह भी मालदेव से रूठ गई। तभी से वह ‘रूठी रानी’ कहलाई

रूठी रानी

1536 ई. में राव मालदेव का विवाह जैसलमेर के राजा लूणकरण की पुत्री उम्मादे से हुआ। किसी कारणवश लूणकरण ने मालदेव को मारने का इरादा किया तो लूणकरण की रानी ने पुरोहित राघवदेव द्वारा यह सूचना मालदेव को भिजवा दी।

यह भी देखे :- राव गांगा
रूठी रानी
यह भी देखे :- राव जोधा

संभवत: इसी कारण से मालदेव उम्मादे से अप्रसन्न हो गया और वह भी मालदेव से रूठ गई। तभी से वह ‘रूठी रानी’ कहलाई तथा उसे अजमेर के तारागढ़ में रखा गया।

See also  महाराजा जवाहर सिंह

जब शेरशाह के अजमेर पर आक्रमण की शंका हुई तो ईश्वरदास के माध्यम से उसे जोधपुर जाने को राजी किया गया परन्तु जोधपुर रानियों के रूखे व्यवहार की जानकारी मिलने के कारण वह गूँरोज चली गई। जब मालदेव का देहान्त हुआ तो वह सती हुई।

यह भी देखे :- राव रणमल

रूठी रानी FAQ

Q 1. राव मालदेव का विवाह उम्मादे से कब हुआ था?

Ans – राव मालदेव का विवाह 1536 ई. में उम्मादे से हुआ था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- राव चूँडा (चामुंडाराय)

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment