राव मुकुंद सिंह हाड़ा

राव मुकुंद सिंह हाड़ा | राव मुकुन्दसिंह माधोसिंह का ज्येष्ठ पुत्र था। राज्यारोहण के समय उसे शाहजहां ने शाही खिलअत तथा तीन हजार के मनसब और दो हजार सवार पद से सम्मानित किया

राव मुकुंद सिंह हाड़ा

राव मुकुन्दसिंह, माधोसिंह का ज्येष्ठ पुत्र था। राज्यारोहण के समय उसे शाहजहां ने शाही खिलअत तथा तीन हजार के मनसब और दो हजार सवार पद से सम्मानित किया। जब इसके शासनकाल में शाहजहां के चारों लड़कों में गृह युद्ध आरम्भ हुआ तो अन्य राजधानी नरेशों की भांति मुकुन्दसिंह ने भी केन्द्रीय शक्ति का साथ दिया।

यह भी देखे :- माधोसिंह हाड़ा
राव मुकुंद सिंह हाड़ा
राव मुकुंद सिंह हाड़ा
यह भी देखे :- कोटा के हाड़ा चौहान

इसके चार भाई मोहनसिंह, जुझारसिंह, कन्डोराम व किशोरसिंह भी उसके सहयोगी थे। अपने तीनों भाइयों तथा अन्य 6 राजपूत सरदारों के साथ रणक्षेत्र में धराशाही हुआ। मुकुन्दसिंह ने अपने राज्य की दक्षिण सीमा के पहाड़ यानी हाड़ौती और मालवा की सरहद के बीच के घाट पर एक दुर्ग तथा अपनी प्रेयसी (उप पत्नी) ‘अबला मीणी’ के लिए महल बनवाया।

यहां एक दुर्गम घाट है जहां बहुत बड़ा दरवाजा बनवाया। यह घाट मुकुन्दसिंह के नाम पर ‘मुकुन्दडा’ कहलाता है। मुकुन्दसिंह ने अन्ता का महल’ और कोटा दुर्ग की दीवारे भी बनवाई।

यह भी देखे :- राव उम्मेदसिंह हाड़ा

राव मुकुंद सिंह हाड़ा FAQ

Q 1. राव मुकुन्दसिंह किसका ज्येष्ठ पुत्र था?

Ans – राव मुकुन्दसिंह, माधोसिंह का ज्येष्ठ पुत्र था.

Q 2. राज्यारोहण के समय मुकुन्दसिंह को शाहजहां ने किससे सम्मानित किया था?

Ans – राज्यारोहण के समय मुकुन्दसिंह को शाहजहां ने शाही खिलअत तथा तीन हजार के मनसब और दो हजार सवार पद से सम्मानित किया था.

Q 3. ‘अन्ता का महल’ का निर्माण किसने करवाया था?

Ans – मुकुन्दसिंह ने अन्ता का महल’ का निर्माण करवाया था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- राव अनिरुद्ध हाड़ा

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published.