राव मालदेव का व्यक्तित्व

राव मालदेव का व्यक्तित्व | राव मालदेव ने जोधपुर के गढ़ के कोट के साथ उसने राणीसर कोट और शहरपनाह बनाया। नागौर गढ़ का भी जीर्णोद्धार उसके समय में हुआ था

राव मालदेव का व्यक्तित्व

राव मालदेव ने जोधपुर के गढ़ के कोट के साथ उसने राणीसर कोट और शहरपनाह बनाया। नागौर गढ़ का भी जीर्णोद्धार उसके समय में हुआ था। सातलमेर, पोकरण, मालकोट, सोजत, रायपुर, गूँदोज, भाद्राजूण, रीया, सीवाना-पीपाड़, नाडौल, कुण्डल, फलौदी, दुनाड़ा आदि कस्बों के चारों ओर कोट बनाकर उन्हें सुदृढ़ किया।

यह भी देखे :- गिरि सुमेल युद्ध
राव मालदेव का व्यक्तित्व
राव मालदेव का व्यक्तित्व
यह भी देखे :- रूठी रानी

उसने अजमेर के तारागढ़ के पास नूर-चश्मे की तरफ के बुर्ज और कोट को बनवाया तथा पैर से चलने वाले रहट से पानी ऊपर चढ़ाने की व्यवस्था की। उसने तारागढ़ के दुर्ग में पानी की कमी को दूर कया।

उसने भी राणा सांगा की तरह अपनी दूसरी रानी के प्रभाव में आकर अपने सुयोग्य लड़के राम के बजाय चन्द्रसेन को अपना उत्तराधिकारी बनाया। उदयसिंह के पुत्र किशनसिंह ने 1609 में किशनगढ़ बसाकर उसे राठौड़ सत्ता का तीसरा केन्द्र बनाया।

यह भी देखे :- राव गांगा

राव मालदेव का व्यक्तित्व FAQ

Q 1. नागौर गढ़ का जीर्णोद्धार किसके समय में हुआ था?

Ans – नागौर गढ़ का जीर्णोद्धार मालदेव के समय में हुआ था.

Q 2. किशनगढ़ किसने बसाया था?

Ans – उदयसिंह के पुत्र किशनसिंह ने किशनगढ़ बसाया था.

Q 3. किशनगढ़ कब बसाया गया था?

Ans – किशनगढ़ 1609 ई. में बसाया गया था.

Q 4. राठौड़ सत्ता का तीसरा केन्द्र किसे बनाया गया था?

Ans – राठौड़ सत्ता का तीसरा केन्द्र किशनगढ़ को बनाया गया था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- राव जोधा

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published.