मकर संक्रांति का पर्व

मकर संक्रांति का पर्व | भारत में कई प्रकार के त्यौहार मनाएं जाते है, जिनमें से एक मकर संक्रांति का त्यौहार है. सामान्यतः यह त्यौहार 14 फरवरी को ही मनाया जाता है

मकर संक्रांति का पर्व

भारत में कई प्रकार के त्यौहार मनाएं जाते है, जिनमें से एक मकर संक्रांति का त्यौहार है. सामान्यतः यह त्यौहार 14 फरवरी को ही मनाया जाता है. यह पर्व माघ मास में कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा को जब सूर्य मकर राशि में प्रविष्ट होता है उस दिन मनाया जाता है। सामान्यतः त्यौहार 14 जनवरी को मनाया जाता है। लेकिन अब मकर के खिसकने से कभी-कभी 15 जनवरी को भी मनाया जाने लगा है। संक्रांति के एक दिन पूर्व तिल के लड्डू, पपड़ी, बरफी, फोनी इत्यादि बनाये जाते हैं। इस दिन दान पुण्य का विशेष महत्व होता है। इस दिन सधवा स्त्रियां सुहाग की तेरह वस्तुएँ कलप कर सुहागिन स्त्रियों को देती है। इस दिन सभी लोग पतंगे उड़ाते हैं। इस दिन रूठी सास को मनाए जाने की भी प्रथा है।

यह भी देखे :- देव दीपावली का पर्व
मकर संक्रांति का पर्व
मकर संक्रांति का त्यौहार
यह भी देखे :- देवउठनी ग्यारस का पर्व

मकर संक्रांति का पर्व FAQ

Q 1. मकर संक्रांति का त्यौहार सामान्यतः कब मनाया जाता है?

Ans – मकर संक्रांति का त्यौहार सामान्यतः 14 फरवरी को मनाया जाता है.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- अक्षय नवमी का पर्व

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *