महाराणा विक्रमादित्य

महाराणा विक्रमादित्य | राणा सांगा की हाडी रानी कर्मावती के दो अल्प आयु पुत्र विक्रमादित्य व उदयसिंह थे। विक्रमादित्य 1531 ई. में रणथम्भौर से आकर मेवाड़ की गद्दी पर बैठा

महाराणा विक्रमादित्य

राणा सांगा की हाडी रानी कर्मावती के दो अल्प आयु पुत्र विक्रमादित्य व उदयसिंह थे। महाराणा रत्नसिंह के निःसंतान मरने पर उसका छोटा भाई (सौतेला) विक्रमादित्य 1531 ई. में रणथम्भौर से आकर मेवाड़ की गद्दी पर बैठा। विक्रमादित्य अल्प वयस्क था तो उसकी माता एवं राणा सांगा की विधवा रानी कर्मावती उसकी संरक्षिका बनी। सन् 1535 में गुजरात के बहादुरशाह ने मेवाड़ पर आक्रमण किया।

यह भी देखे :- राणा सांगा

चित्तौड़ का युद्ध

चित्तौड़ पर इस समय राणा सांगा के द्वितीय पुत्र विक्रमादित्य का (1531-36 ई.) शासन था। वह किले की रक्षा का भार देवलिया प्रतापगढ़ के ठाकुर बाघसिंह को सौंप कर बूँदी चला गया। चित्तौड़ की रक्षार्थ कर्मावती (कर्णावती) ने मुगल बादशाह हुमायूँ को राखी भेजी।

महाराणा विक्रमादित्य
महाराणा विक्रमादित्य
यह भी देखे :-  महाराणा सांगा का व्यक्तित्व

मगर हुमायूँ समय पर सहायता नहीं कर सका। अतः किले का पतन जानकर रानी कर्मावती ने अन्य राजपूत स्त्रियों के साथ जौहर किया तथा राजपूत योद्धा लड़ते हुए मारे गए। यह घटना चित्तौड़ के ‘दूसरा साका’ के नाम से प्रसिद्ध है। मार्च, 1535 ई. में बहादुरशाह ने किले पर अधिकार कर लिया। मगर हुमायूँ के आने की खबर सुनकर उसने चित्तौड़ छोड़ दिया।

अतः विक्रमादित्य ने पुनः चित्तौड़ पर अधिकार कर लिया, 1536 ई. में विक्रमादित्य चित्तौड़ का पुनः शासक बना। मगर इस युद्ध से उसकी शक्तिहीनता स्पष्ट हो गई। फलतः बनवीर ने विक्रमादित्य की हत्या कर चित्तौड़ की गद्दी हथिया ली। राणा सांगा के गौरवपूर्ण शासन के बाद यह नपुसंकता की हद थी। कर्नल टॉड विक्रमादित्य के आलोचक थे। टॉड के अनुसार क्या यह अच्छा नहीं रहता, यदि राणा विक्रमादित्य मेवाड़ कुल में पैदा न हुआ होता।

यह भी देखे :- बयाना का युद्ध

महाराणा विक्रमादित्य FAQ

Q 1. राणा सांगा की हाडी रानी कर्मावती के कितने पुत्र थे?

Ans – राणा सांगा की हाडी रानी कर्मावती के दो पुत्र थे.

Q 2. विक्रमादित्य मेवाड़ की गद्दी पर कब बैठा था?

Ans – विक्रमादित्य 1531 ई. में मेवाड़ की गद्दी पर बैठा था.

Q 3. विक्रमादित्य के अल्प वयस्क होने के कारण उसकी संरक्षिका बनी कौन बनी थी?

Ans – विक्रमादित्य अल्प वयस्क था तो उसकी माता एवं राणा सांगा की विधवा रानी कर्मावती उसकी संरक्षिका बनी.

Q 4. गुजरात के बहादुरशाह ने मेवाड़ पर कब किया था?

Ans – 1535 में गुजरात के बहादुरशाह ने मेवाड़ पर आक्रमण किया था.

Q 5. चित्तौड़ की रक्षार्थ कर्मावती ने किस मुगल बादशाह को राखी भेजी थी?

Ans – चित्तौड़ की रक्षार्थ कर्मावती ने मुगल बादशाह हुमायूँ को राखी भेजी थी.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- राणा सांगा और बाबर

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *