महाराजा विजयसिंह

महाराजा विजयसिंह | महाराजा विजयसिंह अपने पिता बख्तसिंह की मृत्यु (1752 ई.) के बाद मारवाड़ का शासक बना | उसके द्वारा ढलवाये गये सिक्के ‘विजयशाही’ के नाम से प्रसिद्ध हुए

महाराजा विजयसिंह

राजा विजयसिंह अपने पिता बख्तसिंह की मृत्यु (1752 ई.) के बाद मारवाड़ का शासक बना। विजयसिंह ने जोधपुर में टकसाल खोली। उसके द्वारा ढलवाये गये सिक्के ‘विजयशाही’ के नाम से प्रसिद्ध हुए।

यह भी देखे :- महाराजा अजीत सिंह

विजयसिंह पर अपनी पासवान गुलाबराय का अत्यधिक प्रभाव था, राजकार्य उसके इशारे से ही चलता था। अतः वीर विनोद के रचनाकार श्यामलदास ने विजयसिंह के लिए लिखा “इन (महाराजा) को जहांगीर और पासवान (गुलाबराय) को नूरजहां का नमूना कहना चाहिए।”

महाराजा विजयसिंह
महाराजा विजयसिंह
यह भी देखे :- महाराजा जसवंतसिंह प्रथम

डंगा का युद्ध (1790 ई.) :

मेड़ता के पास डंगा नामक स्थान पर 10 सितम्बर, 1790 को सिंधिया के सेनानायक डी. बोइन ने जोधपुर के शासक विजयसिंह राठौड़ की सेना को पराजित किया। युद्ध के परिणामस्वरूप सांभर की साँध (5 जनवरी, 1791) हुई, जिसके अनुसार अजमेर शहर तथा दुर्ग एवं 60 लाख रुपये मराठों को देना निश्चित हुआ। राठौड़ सेना को भयंकर क्षति उठानी पड़ी और उसका मनोबल टूट गया।

See also  हम्मीर देव चौहान का मूल्यांकन

महाराजा विजयसिंह के 7 रानियां एक पासवान गुलाबराय थी तथा 7 पुत्र हुए जिनमें फतहसिंह और भौमसिंह कंवरपदे में निःसंतान मर गए। इनका पुत्र भीमसिंह जोधपुर की गद्दी पर बैठा और सबसे छोटा पुत्र मानसिंह था। महाराजा भीमसिंह ने 10 वर्ष राज्य कर ई.स. 1803 में महाराजा का नि:संतान देहावसान हो गया।

यह भी देखे :-  राव चन्द्रसेन

महाराजा विजयसिंह FAQ

Q 1. बख्तसिंह की मृत्यु के बाद मारवाड़ का शासक कौन बना था?

Ans – बख्तसिंह की मृत्यु के बाद मारवाड़ का शासक महाराजा विजय सिंह बना था.

See also  जयसिंह प्रथम के उत्तराधिकारी
Q 2. विजय सिंह के द्वारा के द्वारा ढलवाये गये सिक्के किस नाम से प्रसिद्ध हुए?

Ans – विजय सिंह के द्वारा ढलवाये गये सिक्के ‘विजयशाही’ के नाम से प्रसिद्ध हुए.

Q 3. राजा विजय सिंह का देहांत कब हुआ था?

Ans – राजा विजय सिंह का देहांत 1803 ई. को हुआ था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- महाराजा अभयसिंह

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment