महाराजा उम्मेदसिंह

महाराजा उम्मेदसिंह | महाराजा उम्मेद सिंह का जन्म 8 जुलाई 1903 ई. को हुआ था. महाराजा उम्मेद सिंह 1918 ई. से अपनी मृत्यु 1947 तक जोधपुर के शासक रहे थे

महाराजा उम्मेदसिंह

1923 में जब जोधपुर नरेश उम्मेदसिंह को शासनाधिकार दिये गये तो उस समय लार्ड रीडिंग स्वयं उपस्थित था किन्तु शासनाधिकार की वास्तविक शक्तियां ब्रिटिश सरकार के अधीन थी। इस प्रवृत्ति ने मारवाड़ के शासन की स्थिति घटकर एक अधीनस्थ की कर दी थी। महाराजा की समस्त शक्तियां प्रतिबन्धित कर दी गई थी।

यह भी देखे :- महाराजा सरदारसिंह

मारवाड़ के तत्कालीन चीफ मिनिस्टर सर डोनाल्ड फील्ड को ‘डीफैक्टो रूलर ऑफ जोधपुर स्टेट’ कहा जाता था। महाराजा उम्मेदसिंह ने उम्मेद भवन पैलेस’ (1929-1942 ई.) का निर्माण करवाया जो ‘छीतर पैलेस’ (छीतर पत्थर से) नाम से भी प्रसिद्ध है।

महाराजा उम्मेदसिंह
महाराजा उम्मेदसिंह
यह भी देखे :- महाराजा जसवन्तसिंह द्वितीय

यह इण्डो-कॉलोनियल कला का बेहतरीन नमूना है। महाराजा उम्मेदसिंह ने अपने जन्म दिवस पर 24 जुलाई, 1945 को जोधपुर राज्य में विधानसभा के गठन की घोषणा की। 28 मार्च 1947 को महाराजा ने ‘द जोधपुर लेजिस्लेटिव असेंबली रूल्स’ का अनुमोदन किया।

See also  शाहपुरा का गुहिल राजवंश

उनका 29 साल के सेवा के बाद 9 जून 1947 को माउंट आबू में 43 वर्ष की आयु में निधन हो गया। बाघ के शिकार के दौरान एपेंडिसाइटिस के एक तीव्र दौड़े से उनकी मृत्यु हो गई।

यह भी देखे :- महाराजा मानसिंह

महाराजा उम्मेदसिंह FAQ

Q 1. महाराजा उम्मेद सिंह का जन्म कब हुआ था?

Ans – महाराजा उम्मेद सिंह का जन्म 8 जुलाई 1903 ई. को हुआ था.

Q 2. महाराजा उम्मेद सिंह का राज्याभिषेक कब किया गया था?

Ans – महाराजा उम्मेद सिंह का राज्याभिषेक 1918 ई. को किया गया था.

See also  राणा कुंभा की सांस्कृतिक उपलब्धियां
Q 3. महाराजा उम्मेद सिंह का निधन कब हुआ था?

Ans – महाराजा उम्मेद सिंह का निधन 9 जून 1947 ई. को हुआ था.

Q 4. महाराजा उम्मेद सिंह का निधन कहाँ हुआ था?

Ans – महाराजा उम्मेद सिंह का निधन माउन्ट आबू पर हुआ था.

Q 5. महाराजा उम्मेद सिंह का निधन कितने वर्ष की उम्र में हुआ था?

Ans – महाराजा उम्मेद सिंह का निधन 43 वर्ष की उम्र में हुआ था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- महाराजा भीमसिंह

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment