महाराजा मानसिंह

महाराजा मानसिंह | उत्तराधिकार युद्ध के पश्चात् सन् 1803 में मानसिंह जोधपुर के सिंहासन पर आसीन हुए। महाराजा मां सिंह का राज्याभिषेक 19 अक्टूबर 1803 ई. किया गया था

महाराजा मानसिंह

उत्तराधिकार युद्ध के पश्चात् सन् 1803 में मानसिंह जोधपुर के सिंहासन पर आसीन हुए। महाराजा मान सिंह का राज्याभिषेक 19 अक्टूबर 1803 ई. किया गया था. जब मानसिंह जालौर में मारवाड़ की सेना से घिर गए थे, तब गोरखनाथ संप्रदाय के गुरु आयस देवनाथ ने भविष्यवाणी की, कि मानसिंह शीघ्र ही जोधपुर के शासक बनेंगे।

यह भी देखे :- महाराजा भीमसिंह
महाराजा मानसिंह
महाराजा मानसिंह
यह भी देखे :- महाराजा विजयसिंह

अतः शासक बनते ही मानसिंह ने ‘आयस देवनाथ’ को जोधपुर आमंत्रित कर अपना गुरु बनाया तथा वहाँ नाथ संप्रदाय के ‘महामंदिर’ का निर्माण करवाया। मानसिंह को भीमसिंह के अल्पवयस्क पुत्र धोलकसिंह तथा उसके समर्थकों के साथ बहुत लंबा संघर्ष करना पड़ा।

See also  राव गांगा

राजा मानसिंह ने सन् 1818 में अंग्रेजों से सहायक संधि कर ली। राजा मान सिंह का राज्यकाल 4 सितम्बर 1843 ई. को समाप्त हुआ था.

यह भी देखे :- महाराजा अजीत सिंह

महाराजा मानसिंह FAQ

Q 1. महाराजा मान सिंह का राज्याभिषेक कब किया गया था?

Ans – महाराजा मान सिंह का राज्याभिषेक 19 अक्टूबर 1803 ई. किया गया था.

Q 2. मान सिंह ने अंग्रेजों से सहायक संधि कब की थी?

Ans – मान सिंह ने अंग्रेजों से सहायक संधि 1818 ई. में की थी.

Q 3. मान सिंह का राज्यकाल कब समाप्त हुआ था?
See also  नागभट्ट प्रथम : गुर्जर-प्रतिहार वंश

Ans – मान सिंह का राज्यकाल 4 सितम्बर 1843 ई. को समाप्त हुआ था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- महाराजा जसवंतसिंह प्रथम

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment