लॉर्ड लिटन | Lord Lytton

लॉर्ड लिटन | Lord Lytton | यह एक प्रसिद्द उपन्यासकार, निबंध लेखन व साहित्यकार था. साहित्याकाश में इसे ओवन मैरीडिथ के नाम से जाना जाता है

लॉर्ड लिटन | Lord Lytton

यह एक प्रसिद्द उपन्यासकार, निबंध लेखन व साहित्यकार था. साहित्याकाश में इसे ओवन मैरीडिथ के नाम से जाना जाता है. इसके समय में बम्बई, मद्रास, पंजाब, हैदराबाद, मध्य भारत आदि में भयानक अकाल पड़ा था.

लिटन ने रिचर्ड स्ट्रेची की अध्यक्षता में 1878 ई. में एक अकाल आयोग की न्युक्ति की थी. 1 जनवरी 1877 ई. को ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया को कैंसर-ए-हिन्द की उपाधि से सम्मानित करने के लिए दिल्ली दरबार का आयोजन किया गया था.

यह भी देखे :- लॉर्ड विलियम बेंटिक | Lord William Bentinck
  • मार्च 1878 ई. में लिटन ने भारतीय समाचार पत्र अधिनियम [वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट] पारित कर भारतियों समाचार पत्रों पर कठोर प्रतिबन्ध लगा दी गए थे. {विशेषकर राष्ट्रवादी समाचार-पत्र “सोम प्रकाश” को प्रतिबंधित करने के लिए}
  • इस कानून में प्रावधान था की अगर किसी अख़बार में कोई आपत्तिजनक चीज छपती है तो सरकार द्वारा उसकी प्रिंटिंग प्रेस सहित सम्पूर्ण संपत्ति जब्त कर दी जाएगी.
  • पायनियर अख़बार ने वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट-1878 का समर्थन किया था.
  • इसी के समय में सन 1878 ई. को भारतीय शस्त्र अधिनियम पारित हुआ, जिसके तहत शस्त्र रखने व व्यापार करने के लिए लाईसेंस को अनिवार्य बना दिया गया था.
यह भी देखे :- प्रथम विश्वयुद्ध | First world war
लॉर्ड लिटन | Lord Lytton
लॉर्ड लिटन | Lord Lytton

इसने सिविल सेवा परीक्षाओं में प्रवेश की अधिकतम आयु सीमा 21 से 19 कर दी थी. 1857 ई. में सिविल सेवा में सम्मलित होने की आयु 23 वर्ष निर्धारित की गई थी. 1859 ई. में आयु को घटाकर 22 वर्ष व 1866 ई. में इसको घटाकर 21 वर्ष कर दिया गया था.

See also  भारत के राज्य तथा राजधानी लिस्ट

लिटन ने अलीगढ में एक “मुस्लिम ऐंग्लो प्राच्य महाविद्यालय की स्थापना की थी.

यह भी देखे :- द्वितीय विश्वयुद्ध | second World War

लॉर्ड लिटन FAQ

Q 1. साहित्याकाश में लिटन को किस नाम से जाना जाता है?

Ans साहित्याकाश लिटन को ओवन मैरीडिथ के नाम से जाना जाता है.

Q 2. लिटन के समय में कहाँ-कहाँ भयानक अकाल पड़ा था?

Ans लिटन के समय में बम्बई, मद्रास, पंजाब, हैदराबाद, मध्य भारत आदि में भयानक अकाल पड़ा था.

Q 4. किसकी अध्यक्षता में अकाल आयोग की न्युक्ति की गई थी?

Ans रिचर्ड स्ट्रेची की अध्यक्षता में अकाल आयोग की न्युक्ति की गई थी.

Q 5. अकाल आयोग की न्युक्ति कब की गई थी?

Ans 1878 ई. में एक अकाल आयोग की न्युक्ति की गई थी.

Q 6. दिल्ली दरबार का आयोजन कब किया गया था?

Ans 1 जनवरी 1877 ई. को दिल्ली दरबार का आयोजन किया गया था.

Q 7. दिल्ली दरबार का आयोजन किसने किया था?

Ans लिटन ने दिल्ली दरबार का आयोजन किया गया था.

Q 8. दिल्ली दरबार का आयोजन किसको व उसे किस उपाधि से सम्मानित करने के लिए किया गया था?

Ans ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया को कैंसर-ए-हिन्द की उपाधि से सम्मानित करने के लिए दिल्ली दरबार का आयोजन किया गया था.

Q 9. भारतीय समाचार पत्र अधिनियम [वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट] किसने पारित किया था?

Ans लिटन ने भारतीय समाचार पत्र अधिनियम [वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट] पारित किया था.

Q 10. भारतीय समाचार पत्र अधिनियम [वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट] कब पारित किया गया था?

Ans मार्च 1878 ई. में भारतीय समाचार पत्र अधिनियम [वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट] पारित किया गया था.

See also  1857 ई. की महान क्रांति
Q 11. किस अख़बार ने वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट-1878 का समर्थन किया था?

Ans पायनियर अख़बार ने वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट-1878 का समर्थन किया था.

Q 12. किसके समय में भारतीय शस्त्र अधिनियम पारित हुआ था?

Ans लिटन के समय में भारतीय शस्त्र अधिनियम पारित हुआ था.

Q 13. भारतीय शस्त्र अधिनियम कब पारित हुआ था?

Ans सन 1878 ई. को भारतीय शस्त्र अधिनियम पारित हुआ था.

Q 14. लिटन ने सिविल सेवा परीक्षाओं में प्रवेश की अधिकतम आयु सीमा 21 से कितनी कर दी थी?

Ans सिविल सेवा परीक्षाओं में प्रवेश की अधिकतम आयु सीमा 21 से 19 कर दी थी.

Q 15. अलीगढ में एक “मुस्लिम ऐंग्लो प्राच्य महाविद्यालय” की स्थापना किसने की थी?

Ans लिटन ने अलीगढ में एक “मुस्लिम ऐंग्लो प्राच्य महाविद्यालय की स्थापना की थी.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- लॉर्ड कॉर्नवालिस | lord Cornwallis

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment