जापानी साम्राज्यवाद | Japanese Imperialism

जापानी साम्राज्यवाद | Japanese Imperialism | साम्राज्यवाद दृष्टिकोण वह दृष्टिकोण है जिसके अनुसार कोई महत्त्वाकांक्षी राष्ट्र अपनी गौरव तथा शक्ति में विकास बढ़ाने के लिए अन्य देशों के मानवीय तथ प्राकृतिक संसाधनों पर अपना आधिपत्य स्थापित कर लेता है

जापानी साम्राज्यवाद | Japanese Imperialism

साम्राज्यवाद दृष्टिकोण वह दृष्टिकोण है जिसके अनुसार कोई महत्त्वाकांक्षी राष्ट्र अपनी गौरव तथा शक्ति में विकास बढ़ाने के लिए अन्य देशों के मानवीय तथ प्राकृतिक संसाधनों पर अपना आधिपत्य स्थापित कर लेता है. यह हस्तक्षेप आर्थिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक अथवा अन्य किसी भी तरह का हो सकता है.

यह भी देखे :- पुनर्जागरण | Renaissance

किसी जगह को अपने राजनीतिक अधिकार में लेना एवं उस क्षेत्र के रहने वालों को विविध अधिकारों से वंचित करना इसका सबसे प्रत्यक्ष रूप है. एक जातीय राज्य अपनी सीमाओं के बाहर जाकर दूसरे देशों और राज्यों मे साम्राज्यवादी नीति के अन्तर्गत हस्तक्षेप करता है व चीन, जापान साम्राज्‍यवाद का सबसे पहला शिकार बना.

चीन, जापान के साम्राज्यवाद का सबसे पहले शिकार हुआ था. 1863 ई. में एक अमेरिकी नाविक पेरी ने बल-प्रयोग कर जापान का द्वार अमेरिका के लिए खोला. जापान की आधुनिकीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत मूतसुहीतों ने की थी.

यह भी देखे :- इटली का एकीकरण क्या है | unification of italy
  • 1872 ई. में जापान में सैनिक सेवा अनिवार्य कर दी गई थी.
  • 1905 ई. में जापान ने रूस को हराया था.
  • जापान-रूस युद्ध की समाप्ति 5 सितम्बर 1905 ई. को पाटर्समाउथ की संधि के द्वारा हुई थी.
See also  फ्रांस की राज्यक्रांति | French Revolution

जापान ने 1931 ई. में अपनी साम्राज्यवादी आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए मंचूरिया पर आक्रमण किया था. 20 मार्च 1933 ई. में जापान ने राष्ट्रसंघ की सदस्यता त्याग दी थी.

जापानी साम्राज्यवाद | Japanese Imperialism
जापानी साम्राज्यवाद | Japanese Imperialism

द्वितीय विश्व युद्ध में जापान ने धुरी राष्ट्र का साथ दिया था. अमेरिका ने जापान पर पहला परमाणु बम 6 अगस्त 1945 ई. को हिरोशिमा पर गिराया था. हिरोशिमा व नागासकी में अणु बम गिराए जाने के कारण जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध में आत्मसमर्पण कर दिया था.

यह भी देखे :- फ्रांस की राज्यक्रांति | French Revolution

जापानी साम्राज्यवाद FAQ

Q 1. साम्राज्यवाद दृष्टिकोण क्या है?

Ans साम्राज्यवाद दृष्टिकोण वह दृष्टिकोण है जिसके अनुसार कोई महत्त्वाकांक्षी राष्ट्र अपनी गौरव तथा शक्ति में विकास बढ़ाने के लिए अन्य देशों के मानवीय तथ प्राकृतिक संसाधनों पर अपना आधिपत्य स्थापित कर लेता है.

Q 2. साम्राज्यवाद दृष्टिकोण का सबसे प्रत्यक्ष रूप क्या है?

Ans किसी जगह को अपने राजनीतिक अधिकार में लेना एवं उस क्षेत्र के रहने वालों को विविध अधिकारों से वंचित करना साम्राज्यवाद दृष्टिकोण का सबसे प्रत्यक्ष रूप है.

See also  अमेरिका का स्वतंत्रता संग्राम part 2 | America’s War of Independence
Q 3. जापान के साम्राज्यवाद का सबसे पहले शिकार कौनसा देश हुआ था?

Ans चीन जापान के साम्राज्यवाद का सबसे पहले शिकार हुआ था.

Q 4. जापान का द्वार अमेरिका के लिए किसने खोला था?

Ans अमेरिकी नाविक पेरी ने जापान का द्वार अमेरिका के लिए खोला था?

Q 5. जापान का द्वार अमेरिका के लिए कब खोला गया था?

Ans 1863 ई. में जापान का द्वार अमेरिका के लिए खोला गया था.

Q 6. जापान की आधुनिकीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत किसने की थी?

Ans जापान की आधुनिकीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत मूतसुहीतों ने की थी.

Q 7. जापान में सैनिक सेवा अनिवार्य कब कर दी गई थी?

Ans 1872 ई. में जापान में सैनिक सेवा अनिवार्य कर दी गई थी.

Q 8. जापान ने रूस को कब हराया था?

Ans 1905 ई. में जापान ने रूस को हराया था.

Q 9. जापान-रूस युद्ध की समाप्ति कब हुई थी?

Ans जापान-रूस युद्ध की समाप्ति 5 सितम्बर 1905 ई. को हुई थी.

Q 10. जापान-रूस युद्ध की समाप्ति किस संधि के द्वारा हुई थी?

Ans जापान-रूस युद्ध की समाप्ति पाटर्समाउथ की संधि के द्वारा हुई थी.

Q 11. जापान ने अपनी साम्राज्यवादी आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए मंचूरिया पर आक्रमण कब किया था?
See also  इटली में फासिस्टों का उदय | The Rise of the Fascists in Italy

Ans जापान ने 1931 ई. में अपनी साम्राज्यवादी आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए मंचूरिया पर आक्रमण किया था.

Q 12. जापान ने राष्ट्रसंघ की सदस्यता कब त्याग दी थी?

Ans 20 मार्च 1933 ई. में जापान ने राष्ट्रसंघ की सदस्यता त्याग दी थी.

Q 13. द्वितीय विश्व युद्ध में जापान ने किस राष्ट्र का साथ दिया था?

Ans द्वितीय विश्व युद्ध में जापान ने धुरी राष्ट्र का साथ दिया था.

Q 14. अमेरिका ने जापान पर पहला परमाणु बम कब व कहाँ पर गिराया था?

Ans अमेरिका ने जापान पर पहला परमाणु बम 6 अगस्त 1945 ई. को हिरोशिमा पर गिराया था.

Q 15. जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध में आत्मसमर्पण क्यों कर दिया था?

Ans हिरोशिमा व नागासकी में अणु बम गिराए जाने के कारण जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध में आत्मसमर्पण कर दिया था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment