महाराष्ट्र का इतिहास | History of Maharashtra

महाराष्ट्र का इतिहास | History of Maharashtra | महाराष्ट्र भारत का एक राज्य है. यह भारत के दक्षिण-मध्य में स्थित है. इसकी गिनती भारत में सबसे धनी व समृद्ध राज्यों में की जाती है

महाराष्ट्र का इतिहास | History of Maharashtra

महाराष्ट्र भारत का एक राज्य है. यह भारत के दक्षिण-मध्य में स्थित है. इसकी गिनती भारत में सबसे धनी व समृद्ध राज्यों में की जाती है. महाराष्ट्र शब्द संस्कृत का है. यह दो शब्दों से मिलकर बना है : महा + राष्ट्र = महान राष्ट्र/महान देश. यह नाम यहाँ के संतों की देन है.

इसकी राजधानी मुंबई है. यह मुंबई भारत का सबसे बड़ा शहर है. इसे देश की आर्थिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है. यहाँ का पुणे शहर भी देश के महानगरों में गिना जाता है. पुणे शहर भारत का आठवां बड़ा शहर है.

महाराष्ट्र का निर्माण 1 नवम्बर 1960 को मराठी भाषी लोगों की मांग पर किया गया था. यहाँ मराठी भाषा सबसे ज्यादा बोली जाती है.

यह भी देखे :- मध्य प्रदेश का इतिहास

महाराष्ट्र का इतिहास

ऐसा माना जाता है की 1000 ईसा पूर्व से पहले महाराष्ट्र में खेती होती थी, लेकिन उस समय मौसम में एकदम परिवर्तन आया, जिसके कारन वहां खेती रुक गई. 500 ईसा पूर्व के आस-पास मुंबई एक महत्वपूर्ण पत्तन बनकर उभरा था. यह सोपर ओल्ड टेस्टामेंट का ओफिर था या नहीं इस पर विद्वानों का एकमत नहीं है.

See also  सिंधुदुर्ग जिला

प्राचीन 16 महाजनपदों में अश्मक का स्थान आधुनिक अहमदनगर के आस-पास है. सम्राट अशोक के भी शिलालेख मुंबई के निकट पाए गए है.

मौर्य वंश के पतन के बाद यहाँ यादव वंश का उदय हुआ था. वाकाटक शासकों के समय अजंता की गुफाओं का निर्माण किया गया था. चालुक्य शासकों का शासन समय पहले 550-760 ई. तक व बाद में 973-1180 ई. तक था. इसके बीच राष्ट्रकूट शासकों ने शासन किया था.

महाराष्ट्र का इतिहास | History of Maharashtra
महाराष्ट्र का इतिहास | History of Maharashtra

अलाउद्दीन खिलजी वह पहला शासक था जिसने अपना साम्राज्य दक्षिण में मदुरै तक फैला दिया था. इसके बाद मुहम्मद बिन तुगलक ने अपनी राजधानी दिल्ली से हटाकर दौलताबाद में स्थापित की थी. वह स्थान पहले देवगिरी नाम से प्रसिद्द था और वह स्थान अहमदनगर के निकट है. बहमनी सल्तनत के टूटने पर यह प्रदेश गोलकुंडा का शासन व इसके औरंगजेब के संक्षिप्त शासन आया था.

यह भी देखे :- केरल का इतिहास

इसके बाद मराठा शक्ति में उत्तरोत्तर वृद्धि हुई व लगभग 18वीं सदी तक मराठा पूरे महाराष्ट्र में फ़ैल चुके थे. मराठों का साम्राज्य दक्षिण में कर्नाकट के दक्षिणी सिरे तक पहुँच गया था. 1820 ई. तक आते-आते अंग्रेजों ने पेशवाओं को पुर्णतः हर दिया था तथा यह प्रदेश भी अंग्रेजी साम्राज्य के अधीन हो गया था.

  • महाराष्ट्र में 6 संभाग है.
  • महाराष्ट्र में 36 जिले है.
  • महाराष्ट्र का क्षेत्रफल 307713 किमी2 है.
  • महाराष्ट्र की जनसँख्या 11,23,72,972 है.
  • महाराष्ट्र का वहां पंजीकरण अक्षर MH है.
यह भी देखे :- कर्नाटक का इतिहास

महाराष्ट्र का इतिहास FAQ

Q 2. महाराष्ट्र शब्द किस भाषा का है?

Ans महाराष्ट्र शब्द संस्कृत का है.

Q 3. महाराष्ट्र किन दो शब्दों से मिलकर बना है?

Ans महाराष्ट्र महा+राष्ट्र से बना है.

Q 4. महाराष्ट्र शब्द का अर्थ क्या है?

Ans महाराष्ट्र शब्द का अर्थ महान देश/महान राष्ट्र है.

Q 5. महाराष्ट्र नाम किसकी देन है?

Ans महाराष्ट्र नाम यहाँ के संतों की देन है.

Q 6. महाराष्ट्र की राजधानी कहाँ स्थित है?

Ans महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में स्थित है.

Q 8. देश की आर्थिक राजधानी के रूप में किस नगर को जाना जाता है?

Ans मुंबई, को देश की आर्थिक राजधानी के रूप में जाना जाता है.

Q 9. महाराष्ट्र का गठन कब किया गया था?

Ans महाराष्ट्र का गठन 1 नवम्बर 1960 ई. को किया गया था.

Q 10. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कौनसी भाषा बोली जाती है?

Ans महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मराठी भाषा बोली जाती है.

Q 11. महाराष्ट्र में खेती कब की जाती थी?

Ans महाराष्ट्र में 1000 ईसा पूर्व से पहले में खेती की जाती थी.

Q 12. अश्मक स्थान कहाँ स्थित है?

Ans अश्मक आधुनिक अहमदनगर के आस-पास है.

Q 13. महाराष्ट्र में कितने संभाग है?

Ans महाराष्ट्र में 6 संभाग है.

Q 14. महाराष्ट्र में कितने जिले है?

Ans महाराष्ट्र में 36 जिले है.

Q 15. महाराष्ट्र का क्षेत्रफल कितना है?

Ans महाराष्ट्र का क्षेत्रफल 307713 किमी2 है.

लेख को पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने रिश्तेदारों व मित्रों के साथ में शेयर करना मत भूलना…..

यह भी देखे :- हिमाचल प्रदेश का इतिहास 

केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment