झारखण्ड का इतिहास | History of Jharkhand

झारखण्ड का इतिहास | History of Jharkhand | झारखण्ड का इतिहास पाषाण काल से शुरू होता है. यहाँ से ताम्र-पाषाण युग के तांबे के बने उपकरण प्राप्त हुए है

झारखण्ड का इतिहास | History of Jharkhand

झारखण्ड का इतिहास पाषाण काल से शुरू होता है. यहाँ से ताम्र-पाषाण युग के तांबे के बने उपकरण प्राप्त हुए है. एक स्वतंत्र भू-राजनीतिक क्षेत्र के रूप में इसकी पहचान मगध साम्राज्य की स्थापना से पूर्व की मानी जाती है.

मुगल काल के समय में यह क्षेत्र जहाँगीर तथा औरंगजेब के समय में यह प्रदेश मुगल साम्राज्य के अधीन आ गया था. ब्रिटिश काल में यह बंगाल प्रेजिडेंसी का हिस्सा रहा और बाद में बिहार राज्य का हिस्सा बनाया गया था. आजादी के बाद इसे स्वतंत्र राज्य बनाने की मांग उठी और 2000 ई. में इसे बिहार से अलग करके राज्य का दर्जा दिया गया था.

यह भी देखे :- हिमाचल प्रदेश का इतिहास 

प्राचीन इतिहास

इस प्रदेश के कुछ स्थानों पर जीवाश्म के कुछ अंश उन कलाकृतियों की ओर इशारा करते है जिससे यह पता चलता है की छोटानागपुर क्षेत्र में होमो इरेकट्स से होमो सिपियंस जाति के बदलाव को दर्शाता है. यहाँ के पत्थर व अन्य उपकरण सभ्यता के प्रारंभिक वर्षों से 3000 से अधिक वर्ष पहले के है.

See also  देवघर जिला

छठी या सातवी शताब्दी ईसा पूर्व के महाकाव्य महाभारत युग के कीकट प्रदेश का उल्लेख ऋग्वेद में है जो पारसनाथ की पहाड़ियों में गिरिडीह जिला झारखण्ड में स्थित है.

झारखंड के कुछ भागों में पत्थर की कला, गुफा चित्र, भूवैज्ञानिक तथा शैलवर्णना समय बीतने का भी संकेत है. हड़प्पा की प्राचीन सभ्यता में मौजूदगी का भी प्रमाण है.

झारखण्ड का इतिहास | History of Jharkhand
झारखण्ड का इतिहास | History of Jharkhand

झारखण्ड आन्दोलन

यह आन्दोलन भारत के छोटा नागपुर पठार व उसके आस-पास के क्षेत्र जिसे झारखण्ड के नाम से जाना जाता है. यह अलग राज्य की मांग के साथ शुरू होने वाला सामाजिक व राजनीतिक आन्दोलन था. इस आन्दोलन की शुरुआत 20वीं सदी की शुरुआत में हुई थी. अंततः बिहार पुनर्गठन बिल के 2002 के पास होने के बाद इसे अलग राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ था.

यह भी देखे :- हरियाणा का इतिहास 

झारखंड का सामान्य परिचय

  • झारखण्ड की राजधानी रांची है.
  • झारखण्ड का सबसे बड़ा शहर जमशेदपुर है.
  • झारखण्ड की जनसँख्या 3,29,88,134 है.
  • झारखण्ड का क्षेत्रफल 79,714 किमी² है.
  • झारखण्ड की राजभाषा हिंदी है.
  • झारखण्ड का गठन 15 नवम्बर 2000 को हुआ था.
  • झारखण्ड में विधानसभा सीटें 82 है.
  • झारखण्ड में राज्यसभा सीटें 6 है.
  • झारखण्ड में लोकसभा सीटें 14 है.
  • झारखण्ड का उच्चन्यायलय “झारखंड उच्चन्यायलय” है.
  • झारखण्ड की डाक सूचक संख्या 81 से 83 है.
  • झारखण्ड के वाहन अक्षर JH है.
यह भी देखे :- गोवा का इतिहास

झारखण्ड का इतिहास FAQ

Q 2. झारखण्ड आन्दोलन की शुरुआत कब हुई थी?

Ans झारखण्ड आन्दोलन की शुरुआत 20वीं सदी की शुरुआत में हुई थी.

Q 3. झारखण्ड की राजधानी कहाँ स्थित है?

Ans झारखण्ड की राजधानी रांची है.

Q 4. झारखण्ड का सबसे बड़ा शहर कौनसा है?

Ans झारखण्ड का सबसे बड़ा शहर जमशेदपुर है.

Q 5. झारखण्ड की जनसँख्या कितनी है?

Ans झारखण्ड की जनसँख्या 3,29,88,134 है.

Q 7. झारखण्ड की राजभाषा क्या है?

Ans झारखण्ड की राजभाषा हिंदी है.

Q 8. झारखण्ड का गठन कब हुआ था?

Ans झारखण्ड का गठन 15 नवम्बर 2000 को हुआ था.

Q 9. झारखण्ड में विधानसभा सीटें कितनी है?

Ans झारखण्ड में विधानसभा सीटें 82 है.

Q 10. झारखण्ड में राज्यसभा सीटें कितनी है?

Ans झारखण्ड में राज्यसभा सीटें 6 है.

Q 11. झारखण्ड में लोकसभा सीटें कितनी है?

Ans झारखण्ड में लोकसभा सीटें 14 है.

Q 12. झारखण्ड का उच्चन्यायलय कौनसा है?

Ans झारखण्ड का उच्चन्यायलय “झारखंड उच्चन्यायलय” है.

Q 13. झारखण्ड की डाक सूचक संख्या क्या है?

Ans झारखण्ड की डाक सूचक संख्या 81 से 83 है.

Q 14. झारखण्ड के वाहन अक्षर क्या है?

Ans झारखण्ड के वाहन अक्षर JH है.

लेख को पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने रिश्तेदारों व मित्रों के साथ में शेयर करना मत भूलना…..

यह भी देखे :- गुजरात का इतिहास

केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment