जम्मू कश्मीर का इतिहास | History of Jammu and Kashmir

जम्मू कश्मीर का इतिहास | History of Jammu and Kashmir | जम्मू कश्मीर भारत के सबसे उत्तरी भाग में स्थित है. यहाँ का इतिहास अतिप्राचीन काल से प्रारंभ होता है. 5 अगस्त 2019 तक भारत का एक राज्य था

जम्मू कश्मीर का इतिहास | Jammu and Kashmir

जम्मू कश्मीर भारत के सबसे उत्तरी भाग में स्थित है. यहाँ का इतिहास अतिप्राचीन काल से प्रारंभ होता है. 5 अगस्त 2019 तक भारत का एक राज्य था. इसे दो भागों में विभाजित कर केन्द्रशासित प्रदेश का दर्जा दिया गया था.

यह राज्य ब्रिटिश भारत में जम्मू और कश्मीर नामक एक शाही रियासत हुआ करता था. इस राज्य का क्षेत्र भारत विभाजन के बाद से ही भारत, पाकिस्तान तथा चीन के बीच विवादित रहा है. जिनमें तीनों ही पूर्व रियासत के विभिन्न हिस्सों पर नियंत्रण रखते है.

यह भी देखे :- दादरा नगर हवेली का इतिहास

यह हिमालय पर्वत श्रृंखला के सबसे ऊँचे हिस्से में स्थित है, इसे प्राकृतिक सौन्दर्य तथा संसाधनों के लिए जाना जाता है.

इतिहास

प्राचीनकाल में कश्मीर हिन्दू तथा बौद्ध संस्कृतियों का पालन रहा है. यहाँ का विस्तृत प्राचीन लिखित इतिहास है. राजतरंगिणी जो कल्हण द्वारा 12वीं शताब्दी में लिखी गई थी. तब तक यहाँ पूर्ण हिन्दू राज्य रहा था. यह सम्राट अशोक के साम्राज्य का भी हिस्सा रहा है. लगभग तीसरी शताब्दी में यहाँ सम्राट अशोक का शासन था.

See also  राजौरी जिला

तभी यहाँ बौद्ध धर्म का आगमन हुआ, जो आगे चल कर कुषाणों के अधीन समृद्ध हुआ था. उज्जैन के महराज विक्रमादित्य के अधीन छठी शताब्दी में यहाँ एक बार फिर से हिन्दू धर्म की वापसी हुई थी.

जम्मू कश्मीर का इतिहास | History of Jammu and Kashmir
जम्मू कश्मीर का इतिहास | History of Jammu and Kashmir

मध्यकाल में कश्मीर पर मुस्लिम वंशों का शासन हो गया था. 1589 ई. में यहाँ मुगलों का शासन हुआ था. यह अकबर का शासनकाल था. मुग़ल साम्राज्य के विखंडन के बाद इस क्षेत्र पर पठानों ने कब्ज़ा कर लिया था. यह काल यहाँ का काला युग कहलाता है.

फिर 1814 में पंजाब के शासक महराणा रणजीत सिंह के द्वारा पठानों की पराजय हुई, तथा सिख साम्राज्य आया.

यह भी देखे :- दमन दीव का इतिहास 

अंग्रेजों के द्वारा सिखों की पराजय 1846 ई. में हुई, जिसका परिणाम था लाहौर की संधि. अंग्रेजों के द्वारा महराजा ग्लब सिंह को कश्मीर का शासन सौंप दिया गया, यह कश्मीर का स्वतंत्र शासक बना था.

See also  गांदरबल जिला

1947 ई. में कश्मीर का भारत में विलय हुआ था. आजादी के समय कश्मीर में पाकिस्तान ने घुसपैठ करके कुछ हिस्सों पर कब्ज़ा कर लिया था.

  1. जम्मू कश्मीर का क्षेत्रफल 222,236 km² है.
  2. जम्मू कश्मीर की स्थापना 14 मई 1954 को हुई थी.
  3. जम्मू कश्मीर की जनसँख्या 12.25 मिलियन है.
  4. जम्मू कश्मीर में 22 जिले है.
यह भी देखे :- लक्षद्वीप का इतिहास

जम्मू कश्मीर का इतिहास FAQ

Q 1. जम्मू कश्मीर भारत के सबसे किस भाग में स्थित है?

Ans जम्मू कश्मीर भारत के सबसे उत्तरी भाग में स्थित है.

Q 2. प्राचीनकाल में कश्मीर किन-किन संस्कृतियों का पालन रहा है?

Ans प्राचीनकाल में कश्मीर हिन्दू तथा बौद्ध संस्कृतियों का पालन रहा है.

Q 3. यहाँ सम्राट अशोक का शासन कब था?

Ans लगभग तीसरी शताब्दी में यहाँ सम्राट अशोक का शासन था.

Q 4. मध्यकाल में कश्मीर पर किस वंशों का शासन हो गया था?

Ans मध्यकाल में कश्मीर पर मुस्लिम वंशों का शासन हो गया था.

See also  पुदुचेरी का इतिहास | History of Puducherry
Q 5. कश्मीर पर मुस्लिम वंश शासन कब हुआ था?

Ans कश्मीर पर मुस्लिम वंश का शासन 1589 ई. में में हुआ था.

Q 6. मुग़ल साम्राज्य के विखंडन के बाद इस क्षेत्र पर किसने कब्ज़ा कर लिया था?

Ans मुग़ल साम्राज्य के विखंडन के बाद इस क्षेत्र पर पठानों ने कब्ज़ा कर लिया था.

Q 7. अंग्रेजों के द्वारा सिखों की पराजय कब हुई थी?

Ans अंग्रेजों के द्वारा सिखों की पराजय 1846 ई. में हुई थी.

Q 8. कश्मीर का भारत में विलय कब हुआ था?

Ans 1947 ई. में कश्मीर का भारत में विलय हुआ था.

Q 9. जम्मू कश्मीर का क्षेत्रफल कितना है?

.Ans जम्मू कश्मीर का क्षेत्रफल 222,236 km² है.

Q 10. जम्मू कश्मीर में कितने जिले है?

Ans जम्मू कश्मीर में 22 जिले है.

लेख को पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने रिश्तेदारों व मित्रों के साथ में शेयर करना मत भूलना…..

यह भी देखे :- पुदुचेरी का इतिहास

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment