आंध्र प्रदेश का इतिहास | History of Andhra Pradesh

आंध्र प्रदेश का इतिहास | History of Andhra Pradesh | आन्ध्र प्रदेश भारत के 28 राज्यों में से एक है. इसका इतिहास वैदिक काल से प्रारंभ होता है. इसके इतिहास का लेखन संस्कृत के महाकाव्य जैसे की ऐतरेय ब्राह्मण में मिलता है

आंध्र प्रदेश का इतिहास | History of Andhra Pradesh

आंध्र प्रदेश का एक प्राचीन राज्य अश्मक महाजनपद था. यह राज्य भारत में गोदावरी व कृष्णा नदियों के मध्य स्थित था. इस क्षेत्र के लोग ऋषि विश्वामित्र के वंशज कहे जाते है, इसका वर्णन महाभारत, रामायण व पुराणों में मिलता है.

छठवी शताब्दी ईसा पूर्व में अश्मक 16 महाजनपदों में से एक था. यह महाजनपद सातवाहन वंश के शासकों द्वारा स्थापित किया गया था. इन्होनें अमरावती नामक शहर का निर्माण करवाया था. गौतमी पुत्र शातकर्णी के अधीन में यह साम्राज्य शीर्ष तक पहुँच गया था.

यह भी देखे :- लॉर्ड नार्थब्रुक | Lord Northbrook

दूसरी शताब्दी के उतरार्द्ध में आन्ध्र इक्ष्वाकुओं ने कृष्णा नदी के साथ-साथ पूर्वी क्षेत्र पर अपना राज्य संचालित किया था.

चौथी शताब्दी के दौरान पल्लव वंश के दक्षिणी आंध्र प्रदेश से लेकर तमिलाकम तक अपने राज्य का विस्तार किया व अपनी राजधानी कांचीपुर में स्थापित की. महेन्द्रवर्मन प्रथम व नरसिंहवर्मन के शासन के समय में इस राज्य ने अपना शासन क्षेत्र बढाया था. पल्लवों ने नौवी शताब्दी के अंत तक दक्षिणी तेलगु भाषी क्षेत्र व उत्तरी तमिलाकम में अपना शासन कायम रखा था.

काकतीय वंश का उदय 1163 ई. व 1323 ई. के मध्य हुआ था. इस वंश ने तेलगु क्षेत्र पर एकीकृत शासन किया था. इस अवधि के दौरान तेलगु भाषा तिक्कन के लेखन के साथ एक साहित्यिक माध्यम के रूप में उभरी थी.

See also  विजयनगरम जिला

1323 ई. में दिल्ली के सुल्तान गयासुद्दीन तुगलक ने तेलगु क्षेत्र को जीतने के लिए उलुग खां को एक बड़ी सेना के साथ भेजा व वारंगल की घेराबंदी की. काकतीय वंश के पतन के कारण दिल्ली के तुर्क साम्राज्यों, दक्षिण के चालुक्य चोल राजवंश व मध्य भारत के पारसयों-ताजिक के मध्य स्पर्धा का दौरा चला था. आंध्र के लिए संघर्ष तुर्किक दिल्ली सल्तनत पर मुसुनुरी नायकों की जीत के साथ समाप्त हुआ था.

यह भी देखे :- भारत का सामान्य ऐतिहासिक परिचय

तेलगु ने विजयनगर साम्राज्य के कृष्णदेवराय के नेतृत्व में स्वतंत्रता हांसिल की थी. बहमनी सल्तनत के कुतुबशाही वंश के उस साम्राज्य को प्रतिस्थापित किया था. कुतुबशाही 16वी से 17वी शताब्दी के अंत तक तेलगु संस्कृति के प्रति सहिष्णु रहे थे.

यूरोपियों के आगमन के तहत फ़्रांसिसी ने इस क्षेत्र की राजनीति को बदल दिया था.

आंध्र की आधुनिक नींव मोहनदास गाँधी के अधीन स्वतंत्रता संघर्ष में रखी गई थी. 1947 ई. में भारत ब्रिटेन से स्वतंत्र हो गया था. हालाँकि हैदराबाद का मुस्लिम निजाम भारत से आजादी को बरक़रार रखना चाहता था. लेकिन 1948 ई. में हैदराबाद राज्य बनाने के लिए भारत के अधिराज्य में शामिल होने के लिए मजबूर होना पड़ा था.

आंध्र प्रदेश का इतिहास | History of Andhra Pradesh
आंध्र प्रदेश का इतिहास | History of Andhra Pradesh

आंध्र मुख्य रूप से भाषाई तौर पर गठित भारत का पहला राज्य, 1953 ई. में मद्रास प्रेजिडेंसी से लिया गया था. 1956 ई. में आंध्र प्रदेश को राज्य बनाने के लिए हैदराबाद राज्य के तेलगु भाषी हिस्से के साथ विलय कर दिया गया था. लोकसभा ने 27 फरवरी 2014 को आंध्र प्रदेश के दस जिलों को अलग राज्य की अनुमति दे दी गई थी.

यह भी देखे :- लॉर्ड एमहर्स्ट | Lord Amherst

आंध्र प्रदेश का इतिहास FAQ

Q 2. अश्मक महाजनपद कहाँ स्थित था?

Ans अश्मक महाजनपद भारत में गोदावरी व कृष्णा नदियों के मध्य स्थित था.

Q 3. अश्मक महाजनपद किस वंश के शासकों द्वारा स्थापित किया गया था?

Ans अश्मक महाजनपद सातवाहन वंश के शासकों द्वारा स्थापित किया गया था.

Q 4. पल्लवों ने अपनी राजधानी कहाँ स्थापित की थी?

Ans पल्लवों ने अपनी राजधानी कांचीपुर में स्थापित की थी.

Q 5. पल्लवों ने कब तक दक्षिणी तेलगु भाषी क्षेत्र व उत्तरी तमिलाकम में अपना शासन कायम रखा था?

Ans पल्लवों ने नौवी शताब्दी के अंत तक दक्षिणी तेलगु भाषी क्षेत्र व उत्तरी तमिलाकम में अपना शासन कायम रखा था.

Q 6. काकतीय वंश का उदय कब हुआ था?

Ans काकतीय वंश का उदय 1163 ई. व 1323 ई. के मध्य हुआ था.

Q 7. दिल्ली के सुल्तान गयासुद्दीन तुगलक ने तेलगु क्षेत्र को जीतने के लिए किसे व कभ भेजा था?

Ans 1323 ई. में दिल्ली के सुल्तान गयासुद्दीन तुगलक ने तेलगु क्षेत्र को जीतने के लिए उलुग खां को एक बड़ी सेना के साथ भेजा था.

Q 8. आंध्र के लिए संघर्ष कब समाप्त हुआ था?

Ans आंध्र के लिए संघर्ष तुर्किक दिल्ली सल्तनत पर मुसुनुरी नायकों की जीत के साथ समाप्त हुआ था.

Q 9. तेलगु ने विजयनगर साम्राज्य के किस शासक नेतृत्व में स्वतंत्रता हांसिल की थी?

Ans तेलगु ने विजयनगर साम्राज्य के कृष्णदेवराय के नेतृत्व में स्वतंत्रता हांसिल की थी.

See also  पश्चिम गोदावरी जिला
Q 10. कुतुबशाही कब से कब तक तेलगु संस्कृति के प्रति सहिष्णु रहे थे?

Ans कुतुबशाही 16वी से 17वी शताब्दी के अंत तक तेलगु संस्कृति के प्रति सहिष्णु रहे थे.

Q 11. आंध्र की आधुनिक नींव किसके अधीन स्वतंत्रता संघर्ष में रखी गई थी?

Ans आंध्र की आधुनिक नींव मोहनदास गाँधी के अधीन स्वतंत्रता संघर्ष में रखी गई थी.

Q 12. भारत ब्रिटेन से स्वतंत्र कब हो गया था?

Ans 1947 ई. में भारत ब्रिटेन से स्वतंत्र हो गया था.

Q 13. हैदराबाद राज्य बनाने के लिए भारत के अधिराज्य में शामिल होने के लिए हैदराबाद निजाम को कब मजबूर होना पड़ा था?

Ans 1948 ई. में हैदराबाद राज्य बनाने के लिए भारत के अधिराज्य में शामिल होने के लिए हैदराबाद निजाम को मजबूर होना पड़ा था.

Q 14. भारत का पहला भाषाई तौर पर गठित राज्य कौनसा था?

Ans भारत का पहला भाषाई तौर पर गठित राज्य आंध्र था.

Q 15. लोकसभा ने कब आंध्र प्रदेश के दस जिलों को अलग राज्य की अनुमति दे दी गई थी?

Ans लोकसभा ने 27 फरवरी 2014 को आंध्र प्रदेश के दस जिलों को अलग राज्य की अनुमति दे दी गई थी.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- लॉर्ड मिण्टो द्वितीय | Lord Minto II

केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment