सिख धर्म के गुरु | Guru of Sikhism

सिख धर्म के गुरु | Guru of Sikhism | गुरु नानक ने सिक्ख संप्रदाय की स्थापना की थी. गुरु नानक के अनुनायी सिक्ख कहलाए थे. गुरु नानक बादशाह बाबर व हुमायूँ के समकालीन थे

सिख धर्म के गुरु | Guru of Sikhism

1496 ई. की कार्तिक पूर्णिमा को नानक को आध्यत्मिक पुनर्जीवन का आभास हुआ था. गुरु नानक ने गुरु का लंगर नामक निः शुल्क सह्भोगी भोजनालय स्थापित किए थे.

गुरु नानक के अनेक स्थानों पर सांगत [धर्मशाला] व पंगत [लंगर] स्थापित किए थे. संगत व पंगत ने गुरु नानक के अनुयायियों के लिए एक संस्था का कार्य किया जहाँ वे प्रतिदिन मिलते थे.

1538 ई. में गुरु नानक की मृत्यु करतारपुर में हो गई थी. गुरु अंगद सिक्खों के दुसरे गुरु थे. इनका शुरुआती नाम लहना था. इन्होनें लंगर व्यवस्था जो की गुरु नानक द्वारा शुरू की गई थी, उसे स्थायी बना दिया था. गुरु अंगद ने गुरुमुखी लिपि को शुरू किया था.

यह भी देखे :- सिक्ख तथा अंग्रेज part 2 | Sikh and English

अमरदास सिक्खों के तीसरे गुरु थे. इन्होनें हिन्दुओं से पृथक होने वाले कई कार्य किए थे. गुरु अमरदास ने हिन्दुओं से अलग विवाह करने की पद्धति लवन की शुरुआत की थी. गुरु अमरदास से अकबर ने गोविन्दलाल जाकर भेंट की और गुरु अमरदास की पुत्री बीबी भानी को कई गाँव भेट में दिए थे.

अमरदास ने 22 गद्दियों की स्थापना की व प्रत्येक गद्दी पर एक महंत की न्युक्ति की. बीबी भानी के पति रामदास सिक्खों के चौथे गुरु हुए थे. अकबर ने बीबी भानी को 500 बीघा भूमि दी थी. गुरु रामदास ने इस भूमि पर अमृतसर नामक जलाशय खुदवाया तथा अमृतसर नगर की स्थापना की. गुरु रामदास ने अपने तीसरे पुत्र अर्जुन को गुरु का पद सौंपा था. इस प्रकार इन्होनें गुरु पद को पैतृक बनाया.

गुरु अर्जुन सिक्खों के पांचवे गुरु हुए थे. इन्होनें सिक्खों के धार्मिक ग्रन्थ आदिग्रंथ का लेखन किया था. इसमें गुरु नानक की प्रेरणाप्रद प्रार्थनाएँ व गीत संकलित है.

गुरु ग्रन्थ साहिबा यानि आदिग्रंथ में सिक्ख गुरुओं के साथ-साथ कबीर, नामदेव व रैदास जी की भी रचनाएँ सम्मलित है. 

गुरु अर्जुन ने अमृतसर जलाशय के मध्य में हरमंदर साहब का निर्माण गुरु अर्जुन ने करवाया था. राजकुमार खुसरो की सहायता करने के कारण जहाँगीर ने 1606 ई. में गुरु अर्जुन को मरवा दिया था.

सिक्खों के छठे गुरु हरगोविंद हुए थे. इन्होनें सिक्खों को सैन्य संगठन का रूप दिया था. गुरु हरगोविंद ने अकाल तख़्त या ईश्वर के सिंहासन का निर्माण करवाया था. ये दो तलवार बांधकर गद्दी पर बैठते थे व् इनके दरबार में नगाड़ा बजाने की व्यवस्था थी. अमृतसर की किलेबंदी गुरु हरगोविंद ने की थी.

हरराय सिक्खों के सांतवे गुरु हुए थे. इन्होंने दारा शिकोह को मिलने आने पर आशीवार्द दिया था. सिक्खों के आठवें गुरु हरिकिशन हुए थे. इनकी मृत्यु चेचक से हो गई थी. इन्हें दिल्ली जाकर गुरुपद के बारें में औरंगजेब को समझाना पड़ा था.

यह भी देखे :-सिक्ख तथा अंग्रेज part 1 | Sikh and English

तेगबहादुर सिक्खों के नौवें गुरु हुए थे. इस्लाम स्वीकार नहीं करने के कारण औरंगजेब ने इन्हें वर्तमान में शीशगंज के निकट गुरुद्वारा में मरवा दिया था.

सिक्खों के दसवें व अंतिम गुरु, गुरु गोविन्द सिंह हुए थे. इनका जन्म 1666 ई. में पटना में हुआ था.

सिक्खों के गुरु

क्र. स. गुरु का नाम
पहले गुरु नानक [1538]
दुसरे गुरु अंगद [1539-52]
तीसरे गुरु अमरदास [1552-74]
चौथे गुरु रामदास [1574-81]
पांचवे गुरु अर्जुन [1581-1606]
छठे गुरु हरगोविंद [1606-45]
सांतवे गुरु हरराय [1645-61]
आठवें गुरु हरकिशन [1661-64]
नौवे गुरु तेगबहादुर [1664-75]
दसवे गुरु गोविन्द सिंह [1675-1708]
यह भी देखे :- विजयनगर साम्राज्य की शासन व्यवस्था

सिख धर्म के गुरु FAQ

Q 1. सिक्ख संप्रदाय की स्थापना किसने की थी?

Ans गुरु नानक ने सिक्ख संप्रदाय की स्थापना की थी.

Q 2. गुरु नानक के अनुनायी के कहलाए थे?

Ansगुरु नानक के अनुनायी सिक्ख कहलाए थे.

Q 3. गुरु नानक किसके समकालीन थे?

Ans गुरु नानक बादशाह बाबर व हुमायूँ के समकालीन थे.

Q 4. गुरु नानक की मृत्यु कब व कहाँ हुई थी?

Ans 1538 ई. में गुरु नानक की मृत्यु करतारपुर में हो गई थी.

Q 5. सिक्खों के दुसरे गुरु कौन थे?

Ans गुरु अंगद सिक्खों के दुसरे गुरु थे.

Q 6. गुरुमुखी लिपि को किसने शुरू किया था?

Ans गुरु अंगद ने गुरुमुखी लिपि को शुरू किया था.

Q 7. सिक्खों के तीसरे गुरु कौन थे?

Ans अमरदास सिक्खों के तीसरे गुरु थे.

Q 8. सिक्खों के चौथे गुरु कौन थे?

Ans बीबी भानी के पति रामदास सिक्खों के चौथे गुरु हुए थे.

Q 9. सिक्खों के पांचवे गुरु कौन थे?

Ans सिक्खों के पांचवे गुरु गुरु अर्जुन [1581-1606] थे.

Q 10. सिक्खों के छठे गुरु कौन थे?

Ans सिक्खों के छठे गुरु गुरु हरगोविंद [1606-45] थे.

Q 11. सिक्खों के सांतवे गुरु कौन थे?

Ans सिक्खों के सांतवे गुरु गुरु हरराय [1645-61] थे.

Q 12. सिक्खों के आठवें गुरु कौन थे?

Ans सिक्खों के आठवें गुरु गुरु हरकिशन [1661-64] थे.

Q 13. सिक्खों के नौवे गुरु कौन थे?

Ans सिक्खों के नौवे गुरु गुरु तेगबहादुर [1664-75] थे.

Q 14. सिक्खों के दसवें गुरु कौन थे?

Ans सिक्खों के दसवें गुरु दसवे गुरु गोविन्द सिंह [1675-1708] थे.

Q 15. गुरु गोविन्द सिंह का जन्म कब हुआ था?

Ans गुरु गोविन्द सिंह का जन्म 1666 ई. में पटना में हुआ था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- विजयनगर साम्राज्य के शासक 

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published.