बांसवाड़ा का गुहिल राजवंश

बांसवाड़ा का गुहिल राजवंश | कहा जाता है कि बाँसवाड़ा राज्य के संस्थापक जगमाल ने बांसना अथवा वासना नामक भील को मारकर इसकी स्थापना की व उसी के नाम पर नगर का नाम बाँसवाड़ा पड़ा

बांसवाड़ा का गुहिल राजवंश

कहा जाता है कि बाँसवाड़ा राज्य के संस्थापक जगमाल ने बांसना अथवा वासना नामक भील को मारकर इस नगर की स्थापना की और उसी के नाम पर नगर का नाम बाँसवाड़ा पड़ा। किन्तु जगमाल पूर्व के एक शिलालेख में बाँसवाड़ा ग्राम का उल्लेख हुआ है।

इससे अधिक सम्भावना इस बात की भी लगती है कि बाँस बहुल क्षेत्र होने के कारण भी यह इलाका बाँसवाड़ा कहलाया। 10वीं सदी में यहाँ परमारों का वर्चस्व था। परमारों की राजधानी ‘उत्थुनका’ अथवा अर्धूना थी, जिसे उन्होंने मंदिरों से सुशोभित किया।

यह भी देखे :- हाड़ी रानी का बलिदान

1527 ई. में वागड़ के गुहिल शासक महारावल उदयसिंह की मृत्यु के बाद बाँसवाड़ा उसके पुत्र जगमाल के हिस्से में आया। इसने बाँसवाड़ा में भीलेश्वर महादेव मंदिर, फूलमहल एवं ‘बाई का तालाब’ बनवाये।

बांसवाड़ा का गुहिल राजवंश
बांसवाड़ा का गुहिल राजवंश
यह भी देखे :- महाराणा फतेहसिंह

समरसिंह को जब अकबर ने मेवाड़ पर अपने थाने बिठा दिये तब बाँसवाड़ा ने मुगल अधीनता स्वीकार कर ली। महारावल समरसिंह ने बादशाह जहाँगीर के पास माण्डू में उपस्थित हो बाँसवाड़ा को मेवाड़ से स्वतन्त्र करवा लिया।

See also  महाराणा विक्रमादित्य

औरंगजेब ने कुशलसिंह के नाम फरमान देकर पुनः बाँसवाड़ा को मेवाड़ से पृथक् कर दिया और उसे गुजरात के सूबे के साथ जोड़ दिया। इसके वंशज उम्मेदसिंह ने 1818 ई. में अंग्रेजों से संधि कर ली और सुरक्षा का भार ईस्ट इण्डिया कम्पनी पर आ गया।

यह भी देखे :- महाराणा सज्जनसिंह

बांसवाड़ा का गुहिल राजवंश FAQ

Q 1. बाँसवाड़ा राज्य के संस्थापक कौन है?

Ans – बाँसवाड़ा राज्य के संस्थापक जगमाल है. 

Q 2. जगमाल ने किस भील को मार कर बांसवाड़ा नगर ककी स्थापना की थी?
See also  गुप्त साम्राज्य की शासन व्यवस्था

Ans – जगमाल ने बांसना अथवा वासना नामक भील को मारकर बांसवाड़ा नगर की स्थापना की थी.

Q 3. बांसवाड़ा नगर का नाम किस कारण से बांसवाड़ा रखा गया है?

Ans – बांसवाड़ा नगर का नाम बांसवाड़ा ‘बाँस बहुल क्षेत्र होने के कारण’ रखा गया है.

Q 4. 10वीं सदी में बांसवाड़ा पर किसका वर्चस्व था

Ans – 10वीं सदी में बांसवाड़ा पर परमार वंशीय शासकों का वर्चस्व था.

Q 5. वागड़ के गुहिल शासक महारावल उदयसिंह की मृत्यु कब हुई थी?

Ans – वागड़ के गुहिल शासक महारावल उदयसिंह की मृत्यु 1527 ई. में हुई थी.

See also  तुगलक वंश के शासक part 1 | Rulers of Tughlaq Dynasty
Q 6. उम्मेदसिंह ने अंग्रेजों से संधि कब कर ली थी?

Ans – उम्मेदसिंह ने 1818 ई. में अंग्रेजों से संधि कर ली थी.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :-  महाराणा स्वरूपसिंह

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment