पूर्वी गोदावरी जिले का इतिहास

पूर्वी गोदावरी जिला | East Godavari District | यह भारतीय राज्य आन्ध्र प्रदेश का एक जिला है. यह आन्ध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र वाला जिला है. इसका मुख्यालय काकीनाडा में स्थित है

पूर्वी गोदावरी जिले का इतिहास

यह भारतीय राज्य आन्ध्र प्रदेश का एक जिला है. यह आन्ध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र वाला जिला है. इसका मुख्यालय काकीनाडा में स्थित है. 2011 की जनगणना के अनुसार यह जिला 5,151,549 की आबादी के साथ राज्य की सबसे अधिक जनसँख्या वाला जिला बन गया है.

जनसँख्या की दृष्टि से राजमुंदरी तथा काकीनाडा जिले के प्रमुख शहर है. इस जिले पर  मौर्य, सातवाहनों, विष्णु कुंडिंस, पूर्वी चालुक्य, चोल, आदि तथा फिर अंग्रेजों ने अपना शासन चलाया था. 15 अप्रैल, 1925 को ब्रिटिश शासन के अधीन पूर्वी गोदावरी का गठन किया गया था. यह राज्य का प्रमुख सांस्कृतिक तथा पर्यटन केंद्र भी है.

यह भी देखे :- चित्तूर जिला

इतिहास

आन्ध्र प्रदेश के बाकी जिलों की तरह पूर्वी गोदावरी का इतिहास भी नन्दों के अवधि का पता लग सका है. नंद वंश के संस्थापक महापद्म नंद ने कई अभियानों का नेतृत्व किया तथा दक्कन के एक बड़े भाग को पराजित किया था.

इसके बाद में चन्द्र गुप्त मौर्य ने उस साम्राज्य पर नियंत्रण किया, जिसमें दक्कन का एक बड़ा भाग सम्मलित था. वह अपने बेटे बिन्दुसार के द्वारा सफल हुआ था. मौर्य वंश के बाद यह प्रदेश सातवाहन शासकों के अधीन आ गया था.

विक्रमेंद्रवर्मा  प्रथम के शासन के दौरान यह प्रदेश विष्णुकुंडिन  के हाथों में चला गया था. पूर्वी गोदावरी जिला तब गोलकुंड में सम्मलित था, जो मुगल साम्राज्य के 22 प्रान्तों में से एक बन गया था. मुगल सम्राट औरंगजेब ने प्रान्तों के शासन को चलने के लिए वायसराय नियुक्त किए थे.

पूर्वी गोदावरी जिला
पूर्वी गोदावरी जिला

मुगल सम्राट फर्रुखशियर ने निजाम-उल-मुल्क को दक्कन का वायसराय नियुक्त किया था. 1748 ई. में निजाम-उल-मुल्क की मृत्यु उनके पुत्र उनके पुत्र नासिर जंग और उनके पोते मुज्जफर जंग के मध्य उत्तराधिकार की लड़ाई में हुई थी.

फ्रांसीसी जनरल बूस की सहयता से सलाबत जंग के साथ विवाद समाप्त हो गया. सलाबत जंग के बाद उनके भाई निजाम अली खां ने हटा दिया था, जिन्होनें राजमुंदरी और चिकाकोले को हसन अली खां को पट्टे पर दे दिया था.

यह भी देखे :- अनंतपुर जिला 

निजाम ने युद्ध के लिए तैयारी तेज कर दी थी. हालाँकि युद्ध को एक संधि के साथ रोका गया, इस संधि की 1768 ई. में एक अन्य संधि के तहत पुष्टि की गई थी. हसन अली खां की लीज 1769 ई. में समाप्त हो गई एवं राजमुंदरी तथा एलुरु, मछलीपट्टनम में नए गठित प्रमुख और परिषद के नियंत्रण में आ गए.

  • पूर्वी गोदावरी आन्ध्र प्रदेश का एक जिला है.
  • पूर्वी गोदावरी की जनसँख्या 5,151,549 (2011) है.
  • पूर्वी गोदावरी का क्षेत्रफल 12,805 km² है.
  • पूर्वी गोदावरी में शहरी आबादी 23.5% है.
  • पूर्वी गोदावरी का समय मंडल UTC +5.30 है.
यह भी देखे :-लद्दाख का इतिहास

पूर्वी गोदावरी जिला FAQ

Q 1. पूर्वी गोदावरी किस राज्य का जिला है?

Ans पूर्वी गोदावरी आन्ध्र प्रदेश का एक जिला है.

Q 2. पूर्वी गोदावरी कहाँ स्थित है?

Ans पूर्वी गोदावरी आन्ध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र पर स्थित है.

Q 3. पूर्वी गोदावरी का मुख्यालय कहां स्थित है?

Ans पूर्वी गोदावरी का मुख्यालय काकीनाडा में स्थित है.

Q 4. जनसँख्या की दृष्टि आन्ध्र प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौनसा है?

Ans जनसँख्या की दृष्टि से आन्ध्र प्रदेश का सबसे बड़ा जिला पूर्वी गोदावरी है.

Q 5. पूर्वी गोदावरी की जनसँख्या कितनी है?

Ans पूर्वी गोदावरी की जनसँख्या 5,151,549 है.

Q 6. जनसँख्या की दृष्टि से जिले के प्रमुख शहर कौन-कौनसे है?

Ans जनसँख्या की दृष्टि से राजमुंदरी तथा काकीनाडा जिले के प्रमुख शहर है.

Q 7. ब्रिटिश शासन के अधीन पूर्वी गोदावरी का गठन कब किया गया था?

Ans 15 अप्रैल, 1925 को ब्रिटिश शासन के अधीन पूर्वी गोदावरी का गठन किया गया था.

Q 8. पूर्वी गोदावरी का क्षेत्रफल कितना है?

Ans पूर्वी गोदावरी का क्षेत्रफल 12,805 km² है.

Q 9. पूर्वी गोदावरी में शहरी आबादी कितने % है?

Ans पूर्वी गोदावरी में शहरी आबादी 23.5% है.

Q 10. पूर्वी गोदावरी का समय मंडल कौनसा है?

Ans पूर्वी गोदावरी का समय मंडल UTC +5.30 है.

लेख को पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने रिश्तेदारों व मित्रों के साथ में शेयर करना मत भूलना…..

यह भी देखे :- जम्मू कश्मीर का इतिहास

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *