कश्मीर के राजवंश | dynasty of Kashmir

कश्मीर के राजवंश | dynasty of Kashmir | कश्मीर पर शासन करने वाले वंश कालक्रम से इस प्रकार से थे :- कार्कोट वंश, उतपल्ल वंश, लोहार वंश

कश्मीर के राजवंश | dynasty of Kashmir

कश्मीर पर शासन करने वाले वंश कालक्रम से इस प्रकार से थे :- कार्कोट वंश, उतपल्ल वंश, लोहार वंश.

कार्कोट वंश

627 ई. में दुर्लभवर्धन नामक व्यक्ति ने कश्मीर में कार्कोट वंश की स्थापना की थी. ह्वेनसांग ने इसके शासनकाल में कश्मीर की यात्रा की थी.

यह भी देखे :- चालुक्य राजवंश | Chalukya dynasty

कार्कोट वंश का सबसे शक्तिशाली राजा ललितादित्य मुक्तपीड था. कश्मीर के मार्तंड मंदिर का निर्माण ललितादित्य मुक्तपीड ने करवाया था.

कश्मीर के राजवंश | dynasty of Kashmir
कश्मीर के राजवंश | dynasty of Kashmir

उत्पल्ल वंश

कार्कोट वंश के पश्चात् उत्पल्ल वंश ने कश्मीर पर शासन किया था. इस वंश का संस्थापक अवन्तिवर्मन था. अपने मंत्री सूर के साथ अवन्तिवर्मन शासन करता था. अवन्तिपुर नामक नगर की स्थापना अवन्तिवर्मन ने की थी.

अवन्तिवर्मन के अभियंता सुय्य ने सिंचाई के लिए नहरों का निर्माण करवाया था. 980 ई. में कश्मीर में उत्पल्ल वंश की रानी दिद्दा एक महत्वकांक्षी शासिका हुई थी.

लोहार वंश

उत्पल्ल वंश के बाद कश्मीर पर लोहार वंश ने शासन किया था. लोहार वंश का संस्थापक संग्रामराज था. इसके बाद अनन्त राजा हुआ था. इसकी पत्नी सुर्यमती ने राज्य के प्रशासन को सुधारने के लिए उसकी सहयता की थी.

यह भी देखे :- राष्ट्रकूट वंश | Rashtrakuta dynasty 

लोहार वंश का शासक हर्ष विद्वान्, कवि तथा कई भाषाओँ का ज्ञाता था. कल्हण हर्ष का आश्रित कवि था। इसने राजकोष को भरने के लिए बहुत सारे कर लगाए व मंदिरों को लुटा था। कश्मीर में भयंकर अकाल हर्ष के शासनकाल में पड़ा किन्तु फिर भी इसने दमनपूर्ण करों को नहीं हटाया।

See also  विक्रम संवत

दो भाइयों उच्चल व सुस्सल ने हर्ष के अत्याचार से त्रस्त होकर विद्रोह कर दिया। इन दो भाइयों ने श्रीनगर में घुसकर हर्ष के पुत्र भोज की हत्या कर दी तथा राजमहल में आग लगा दी। विद्रोहियों का मुकाबला करते हुए हर्ष 1101 ई. में मारा गया था.

जयसिंह लोहार वंश का अंतिम शासक था, जिसने 1128 ई. से 1155 ई. तक शासन किया था. इसी शासक तक कल्हण की राजतरंगिणी का विवरण मिलता है। इसके शासनकाल में कश्मीर में दर्शन, धर्म, साहित्य तथा कला के क्षेत्र में सर्वाधिक विस्तार हुआ था.

यह भी देखे :- चोल राजवंश | Chola Dynasty

कश्मीर के राजवंश FAQ

Q 1. कश्मीर पर शासन करने वाले वंशों का कालक्रम किस प्रकार से था?
See also  कछवाहा राजवंश

Ans कश्मीर पर शासन करने वाले वंश कालक्रम से इस प्रकार से थे :- कार्कोट वंश, उतपल्ल वंश, लोहार वंश.

Q 2. कश्मीर में कार्कोट वंश की स्थापना किसने की थी?

Ans दुर्लभवर्धन नामक व्यक्ति ने कश्मीर में कार्कोट वंश की स्थापना की थी.

Q 3. ह्वेनसांग ने किसके शासनकाल में कश्मीर की यात्रा की थी?

Ans ह्वेनसांग ने दुर्लभवर्धन के शासनकाल में कश्मीर की यात्रा की थी.

Q 4. कार्कोट वंश का सबसे शक्तिशाली राजा लकौन था?

Ans कार्कोट वंश का सबसे शक्तिशाली राजा ललितादित्य मुक्तपीड था.

Q 5. कश्मीर के मार्तंड मंदिर का निर्माण किसने करवाया था?

Ans कश्मीर के मार्तंड मंदिर का निर्माण ललितादित्य मुक्तपीड ने करवाया था.

Q 6. कार्कोट वंश के पश्चात् किस वंश ने कश्मीर पर शासन किया था?

Ans कार्कोट वंश के पश्चात् उत्पल्ल वंश ने कश्मीर पर शासन किया था.

Q 7. कार्कोट वंश संस्थापक कौन था?

Ans कार्कोट वंश का संस्थापक अवन्तिवर्मन था.

Q 8. अवन्तिपुर नामक नगर की स्थापना किसने की थी?

Ans अवन्तिपुर नामक नगर की स्थापना अवन्तिवर्मन ने की थी.

Q 9. उत्पल्ल वंश के बाद कश्मीर पर किस वंश ने शासन किया था?
See also  ब्राह्मण ग्रन्थ | Brahmin text

Ans उत्पल्ल वंश के बाद कश्मीर पर लोहार वंश ने शासन किया था.

Q 10. लोहार वंश का संस्थापक कौन था?

Ans लोहार वंश का संस्थापक संग्रामराज था.

Q 11. हर्ष के पुत्र भोज की हत्या किसने की थी?

Ans हर्ष के पुत्र भोज की हत्या उच्चल व सुस्सल ने की थी.

Q 12. हर्ष कब मारा गया था?

Ans हर्ष 1101 ई. में मारा गया था.

Q 13. हर्ष किसके द्वारा मारा गया था?

Ans हर्ष विद्रोहियों के द्वारा मारा गया था.

Q 14. लोहार वंश का अंतिम शासक कौन था?

Ans जयसिंह लोहार वंश का अंतिम शासक था.

Q 15. जयसिंह ने कब से कब तक कश्मीर पर शासन किया था?

Ans जय सिंह ने 1128 ई. से 1155 ई. तक शासन किया था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- चोल साम्राज्य की शासन व्यवस्था

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment