दहेज प्रथा

दहेज प्रथा | मध्यकाल में कई कुप्रथाएँ प्रचलित थी, जिनमें से एक प्रमुख प्रथा दहेज प्रथा थी. भारतीय समाज में इस प्रथा का सर्वप्रथम उल्लेख छठी सदी ईस्वी पूर्व में मिलता है

दहेज प्रथा

भारतीय समाज में दहेज प्रथा का सर्वप्रथम उल्लेख छठी सदी ईस्वी पूर्व में मिलता है। मगध के शासक बिम्बिसार ने जब कोसल नरेश महाकोशल की पुत्री महाकोशला से विवाह किया तो कन्या खर्च के लिए महाकोशल ने बिम्बिसार को ‘काशी ग्राम दहेज में दिया था। सन् 1961के भारत सरकार दहेज निषेध अधिनियम, भारत सरकार दहेज निवारक कानून 2006द्वारा इसे रोकने का प्रयास किया जा रहा है।

यह भी देखे :- पर्दा प्रथा
पर्दा प्रथा
दहेज परंपरा
यह भी देखे :- त्याग प्रथा

दहेज प्रथा FAQ

Q 1. भारतीय समाज में दहेज का सर्वप्रथम उल्लेख कब का मिलता है?

Ans – भारतीय समाज में दहेज का सर्वप्रथम उल्लेख छठी सदी ईस्वी पूर्व में मिलता है।

Q 2. दहेज निषेध अधिनियम कब लागू किया गया था?

Ans – दहेज निषेध अधिनियम 1961 ई. को लागू किया गया था.

Q 3. दहेज निवारक कानून कब पारित किया गया था?

Ans – दहेज निवारक कानून 2006 में पारित किया गया था.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- समाधि प्रथा

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published.