चूड़ामन जाट – भरतपुर

चूड़ामन जाट | चूड़ामन सिनसिनी के शासक व भरतपुर के जाट राज्य के प्रमुख थे. वह भज्जा सिंह के पुत्र व राजाराम के छोटे भाई थे. वह सिनसिनवार जाट गोत्र वंश से था

चूड़ामन जाट – भरतपुर

चूड़ामन सिनसिनी के शासक व भरतपुर के जाट राज्य के प्रमुख थे. वह भज्जा सिंह के पुत्र व राजाराम के छोटे भाई थे. इनसे पहले इनके बड़े भाई राजाराम जाट ने जाट विद्रोह का नेतृत्व किया था.

1688 ई. में राजाराम की मृत्यु के बाद चूड़ामन ने जाट नेतृत्व की बागडोर सम्भाली और औरंगजेब की मृत्यु तक विद्रोह करता रहा। उसने भरतपुर में जाट राज्य की स्थापना की।

यह भी देखे :- राजाराम जाट
चूड़ामन जाट
चूड़ामन
यह भी देखे :- भरतपुर का जाटवंश

धीरे-धीरे जाट शक्ति संगठित होती गई और औरंगजेब की मृत्यु के आसपास जाट सरदार चूड़ामन ने धून में किला बनाकर अपना राज्य स्थापित कर लिया था।

मुहम्मदशाह के आदेश पर सवाई जयसिंह ने चूड़ामन को परास्त कर थून का किला छीन लिया। 1721 ई. में चूड़ामन ने विष खाकर आत्महत्या कर ली। इनकी मृत्यु के बाद बदन सिंह ने जाट विद्रोह का नेतृत्व किया था.

यह भी देखे :- बागड़ का परमार राजवंश

चूड़ामन जाट FAQ

Q 1. राजाराम के बाद जाट विद्रोह का नेतृत्व किसने किया था?

Ans – राजाराम के बाद जाट विद्रोह का नेतृत्व चूड़ामन जाट ने किया था.

Q 2. चूड़ामन ने जाट नेतृत्व की बागडोर कब सम्भाली थी?

Ans – चूड़ामन ने जाट नेतृत्व की बागडोर 1688 को सम्भाली थी.

Q 3. भरतपुर में जाट राज्य की स्थापना किसने की थी?

Ans – भरतपुर में जाट राज्य की स्थापना चूड़ामन जाट ने की थी.

Q 4. चूड़ामन जाट ने आत्महत्या कब की थी?

Ans – चूड़ामन जाट ने 1721 ई. को आत्महत्या की थी.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- किराडू का परमार राजवंश

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *