नाडोल के चौहान

नाडोल के चौहान | नाडौल के चौहानों की शाखा का संस्थापक शाकम्भरी नरेश वाक्पति राज का पुत्र लक्ष्मण चौहान था, जिसने 960 ई. के लगभग चावड़ा राजपूतों से स्वतंत्र होकर चौहान वंश की स्थापना की

नाडोल के चौहान

नाडौल के चौहानों की शाखा का संस्थापक शाकम्भरी नरेश वाक्पति राज का पुत्र लक्ष्मण चौहान था, जिसने 960 ई. के लगभग चावड़ा राजपूतों से स्वतंत्र होकर चौहान वंश की स्थापना की। शाकम्भरी के चौहानों के बाद यह प्रथम चौहान राज्य था। यह चौहानों की सबसे प्राचीन शाखा थी जो शाकम्भरी से निकली।

यह भी देखे :- हम्मीर देव चौहान का मूल्यांकन
नाडोल के चौहान
नाडोल के चौहान
यह भी देखे :- हम्मीर देव चौहान

लक्ष्मण ने नाडौल के दुर्ग को बनाया। 983 ई. के लगभग लक्ष्मण की मृत्यु हो गयी। उसके उत्तराधिकारियों में शोभित, बलराज, महेन्द्र, अहिल, बालाप्रसाद, पृथ्वीप्रसाद, पृथ्वीपाल आदि शासक हुए जिनमें अहिल का नाम विशेष उल्लेखनीय है।

See also  साका

नाडौल शाखा के कीर्तिपाल चौहान ने 1177 ई. के लगभग मेवाड़ शासक सामंतसिंह को पराजित कर मेवाड़ को अपने अधीन कर लिया। फिर 1205 ई. के लगभग नाडौल शाखा के चौहान जालौर के चौहानों में विलीन हो गये।

यह भी देखे :- रणथम्भौर का चौहान राजवंश

नाडोल के चौहान FAQ

Q 1. नाडौल के चौहानों की शाखा का संस्थापक कौन था?

Ans – नाडौल के चौहानों की शाखा का संस्थापक शाकम्भरी नरेश वाक्पति राज का पुत्र लक्ष्मण चौहान था.

Q 2. नाडौल के चौहानों की शाखा की स्थापना कब की गई थी?
See also  केसरिया करने की प्रथा

Ans – नाडौल के चौहानों की शाखा 960 ई. में की गई थी.

Q 3. नाडौल के दुर्ग को किसने बनाया था?

Ans – नाडौल के दुर्ग को लक्ष्मण चौहान ने बनाया था.

Q 4. लक्ष्मण चौहान की मृत्यु कब हुई थी?

Ans – लक्ष्मण चौहान की मृत्यु 983 ई. के लगभग हुई थी.

Q 5. नाडौल शाखा के चौहान जालौर के चौहानों में विलीन कब हुए थे?

Ans – नाडौल शाखा के चौहान 1205 ई. के लगभग जालौर के चौहानों में विलीन हो गये थे.

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.. यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसन्द आया तो इसे अपने मित्रों, रिश्तेदारों व अन्य लोगों के साथ शेयर करना मत भूलना ताकि वे भी इस आर्टिकल से संबंधित जानकारी को आसानी से समझ सके.

यह भी देखे :- पृथ्वीराज का परिवार

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment