राजस्थान का इतिहास

Showing 10 of 270 Results

किशनगढ़ के राठौड़

किशनगढ़ के राठौड़ | राजस्थान में राठौड़ वंश के तीसरे राज्य किशनगढ़ की स्थापना 1609 ई. में जोधपुर शासक मोटाराजा उदयसिंह के पुत्र किशनसिंह ने की थी किशनगढ़ के राठौड़ […]

महाराजा शार्दुल सिंह

महाराजा शार्दुल सिंह | शार्दुलसिंह बीकानेर के राठौड़ वंश के शासक थे. इनके पिता का नाम महाराजा गंगा सिंह है. वे बीकानेर के अंतिम शासक थे महाराजा शार्दुल सिंह शार्दुलसिंह […]

महाराजा गंगासिंह

महाराजा गंगासिंह | महाराजा डूंगरसिंह ने अपने जीवन काल में ही अपने भाई गंगासिंह को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया था। इनका जन्म 13 अक्टूबर 1880 ई. को हुआ था […]

महाराजा रतनसिंह

महाराजा रतनसिंह | महाराजा सूरतसिंह का निधन 1828 में हुआ। इनके पश्चात् इनका जेष्ठपुत्र रतनसिंह 1829 ई. में बीकानेर की गद्दी पर बैठा महाराजा रतनसिंह महाराजा सूरतसिंह का निधन 1828 […]

महाराजा डूंगरसिंह

महाराजा डूंगरसिंह | महाराजा सरदार सिंह के कोई पुत्र नहीं होने के कारण डूंगर सिंह को बीकानेर का शासक घोषित किया गया था. इन्होनें अंग्रजों से नमक नामक समझौता किया […]

महाराजा सूरतसिंह

महाराजा सूरतसिंह | सूरत सिंह बीकानेर के राठौड़ वंश का शासक था. उसने 1818 ई. को ईस्ट इंडिया कंपनी से संधि कर ली थी. वे बड़े वीर, नीतिवेता और न्यायप्रिय […]

महाराजा अनूपसिंह

महाराजा अनूपसिंह | महाराजा कर्णसिंह के जेष्ठ पुत्र अनूपसिंह का जन्म रक्मांग चन्द्रावत की बेटी रानी कमलादे से 11 मार्च, 1638 को हुआ था। इनका राज्याभिषेक 1669 ई. को किया […]

महाराजा गजसिंह बीकानेर

महाराजा गजसिंह बीकानेर | ‘जोधपुर की ख्यात’ में पाया जाता है कि जोरावरसिंह के निःसंतान मरने पर उसके भाई आनन्दसिंह के छोटे पुत्र गजसिंह को बीकानेर की गद्दी मिली महाराजा […]

महाराजा कर्णसिंह

महाराजा कर्णसिंह | सूरसिंह के मरणोपरांत उनके ज्येष्ठ पुत्र कर्णसिंह 1631 ई. में बीकानेर के सिंहासन पर आरूढ़ हुए। औरंगजेब ने इसे ‘जांगलधर बादशाह’ की उपाधि प्रदान की महाराजा कर्णसिंह […]

महाराजा सूरसिंह

महाराजा सूरसिंह | सूर सिंह महाराजा रायसिंह के छोटे पुत्र थे. सूर सिंह का राज्याभिषेक 1613 ई. को किया गया था. बुरहानपुर में 1631 ई. को इनका देहांत हो गया […]