भारत का इतिहास

Showing 10 of 194 Results

दास प्रथा

दास प्रथा | मध्यकाल में कई कुप्रथाएँ प्रचलित थी, जिनमें से एक प्रमुख प्रथा दास प्रथा थी. राजस्थान में 19वीं सदी के अंत तक इस प्रथा का प्रचलन था दास […]

डाकन प्रथा

डाकन प्रथा | मध्यकाल में कई कुप्रथाएँ प्रचलित थी, जिनमें से एक प्रमुख प्रथा डाकन प्रथा थी. इसमें किसी महिला को इस बात के लिए दोषी ठहराया जाता था कि […]

अनुमरण प्रथा

अनुमरण प्रथा | पति की मृत्यु कहीं अन्यत्र होने व वहीं उसका दाह संस्कार कर दिया जाए तो उसके किसी चिह्न के साथ उसकी विधवा द्वारा चितारोहण ‘अनुमरण’ कहलाता है […]

कन्या वध प्रथा

कन्या वध प्रथा | मध्यकाल में कन्या वध जैसी कई प्रथाएँ प्रचलित थी. राज्य के कुछ हिस्सों में स्त्रियों की दशा अच्छी नहीं थी, बेटियों के जन्म लेते ही उन्हें […]

साका

साका | जब दुश्मन द्वारा किसी राजपूत दुर्ग पर आक्रमण किया जाता था तो राजपूत योद्धा केसरिया धारण करते थे तथा राजपूत वीरांगना जौहर व्रत करती थी वह ‘साका’ कहलाता […]

सती प्रथा

सती प्रथा | मृत पति के साथ उसकी पत्नी स्वर्ग प्राप्ति की इच्छा से जीवित जल जाती थी, इस प्रक्रिया को ‘सहगमन’ कहा गया। ऐसी प्रथाएँ समाज के लिए कलंक […]

केसरिया करने की प्रथा

केसरिया करने की प्रथा | राजपूत योद्धा पराजय की स्थिति में शत्रु पक्ष पर केसरिया साफा-वस्त्र धारण कर टूट पड़ते और अपनी मातृभूमि की रक्षार्थ शहीद हो जाते थे वह […]

जौहर प्रथा

जौहर प्रथा | यह पुराने समय में भारत में राजपूत स्त्रियों द्वारा की जाने वाली प्रथा थी. इस क्रिया में राजपूत स्त्रियाँ जौहर कुंड में आग लगाकर स्वयं का बलिदान […]

विक्रम संवत

विक्रम संवत | भारत में हिन्दू पंचांग विक्रम संवत् पर आधारित है। विक्रम संवत् का प्रारम्भ 57 ई. पू. में हुआ था। विक्रमी संवत् की गणना चंद्र के आधार पर […]

शक संवत्

शक संवत् | शक संवत् का प्रारम्भ 78 ई. (78A.D.) में कुषाण शासक कनिष्क के काल में हुआ था। इसका प्रारंभ चैत्र प्रतिपदा से होता है तथा इसका अंतिम महिना […]