जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय

जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय | जवागल श्रीनाथ एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर व आईसीसी मैच रेफरी है. उन्हें भारत के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक माना जाता है

जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय

जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय | जवागल श्रीनाथ एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर व आईसीसी मैच रेफरी है. उन्हें भारत के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक माना जाता है.

संक्षिप्त जानकारी

पिता का नाम माता का नाम जन्म दिनांक पत्नी का नाम
जेके चंद्रशेखरभाग्यलक्ष्मी31 अगस्त 1969माधवी पत्रावली

सफलता के कारण

जवागल श्रीनाथ की सफलता का मुख्य कारण उनकी लग्न, कड़ी मेहनत तथा उनके परिवार का सहयोग है, जिससे आज वे इस मुकाम तक पहुँच पाए है. हमें उनसे ये सिख लेनी चहिये की सफल होने के लिए कभी भी अपनी किस्मत के भरोसे नहीं बैठना चाहिए, बल्कि हमें कड़ी मेहनत करनी चाहिए.

जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय
जवागल श्रीनाथ

जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय

नाम जानकारी
वैवाहिक स्थिति ➛विवाहित
धर्म ➛हिन्दू
पता ➛मैसूर, कर्नाटक
नागरिकता ➛ भारतीय
देश ➛भारत
व्यवसाय ➛पूर्व भारतीय क्रिकेटर व
आईसीसी मैच रेफरी

जीवन परिचय

जवागल श्रीनाथ का जन्म 31 अगस्त 1969 को हुआ था.
हासन जिला, कर्नाटक उनका जन्म स्थान है.
वे मैसूर, कर्नाटक के रहने वाले है.

व्यवसाय

वे एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर व आईसीसी मैच रेफरी है.

Social Media Accounts

Account Name Links
bio Facebook Account ➛Click Here
bio Twitter Account ➛Click Here

जवागल श्रीनाथ का जीवन परिचय FAQ

Q 1. जवागल श्रीनाथ के पिता का नाम क्या है?

Ans जवागल श्रीनाथ के पिता का नाम जेके चंद्रशेखर है.

Q 2. जवागल श्रीनाथ के माता का नाम क्या है?

Ans जवागल श्रीनाथ के माता का नाम भाग्यलक्ष्मी है.

Q 3. जवागल श्रीनाथ की वैवाहिक स्थिति क्या है?

Ans जवागल श्रीनाथ विवाहित है.

Q 4. जवागल श्रीनाथ किस देश के नागरिक है?

Ans जवागल श्रीनाथ भारत देश के नागरिक है.

Q 5. जवागल श्रीनाथ भारत के किस राज्य के रहने वाले है?

Ans जवागल श्रीनाथ भारत के कर्नाटक राज्य के रहने वाले है.

Q 6. जवागल श्रीनाथ का जन्म कब हुआ था?

Ans जवागल श्रीनाथ का जन्म 31 अगस्त 1969 हुआ था.

Q 7. जवागल श्रीनाथ किस धर्म से है?

Ans जवागल श्रीनाथ हिन्दू धर्म से है.

Q 8. जवागल श्रीनाथ क्या व्यवसाय करते है?

Ans जवागल श्रीनाथ एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर व आईसीसी मैच रेफरी है.

लेख को पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने रिश्तेदारों व मित्रों के साथ में शेयर करना मत भूलना…..


Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published.