हरियाणा का इतिहास | History of Haryana

हरियाणा का इतिहास | History of Haryana | हरियाणा उत्तर भारत का एक राज्य है जिसकी राजधानी चंडीगढ़ है. इसकी उत्तर में सीमा पंजाब व हिमाचल प्रदेश, दक्षिण व पश्चिम में राजस्थान तथा पूर्व में उत्तर प्रदेश है

हरियाणा का इतिहास | History of Haryana

यह राज्य वैदिक सभ्यतासिन्धु घाटी सभ्यता का मुख्य स्थान है. इस क्षेत्र में विभिन्न निर्णायक युद्ध भी हुए है जिसमें भारत का अधिकतर इतिहास समाहित है. हिन्दू मतों के अनुसार महाभारत का युद्ध “कुरुक्षेत्र” में हुआ था. इसके अलावा यहाँ पानीपत के तीन युद्ध भी हुए है.

उत्पत्ति

हरियाणा संस्कृत शब्द हरी व आयन से मिलकर बना है, जिसमें हरी शब्द भगवान विष्णु का सूचक है व आयन का अर्थ है घर, इसी प्रकार हरियाणा भगवान के घर से लिया गया है. यहीं पर महाभारत का महान युद्ध लड़ा गया था, जिसमें विष्णु के स्वरुप भगवान श्री कृष्ण ने गीता का उपदेश कुरुक्षेत्र की भूमि पर दिया था.

यह भी देखे :- गुजरात का इतिहास

प्राचीन हरियाणा

सिन्धु घाटी जितनी पुरानी कई सभ्यताओं के अवशेष सरस्वती नदी के किनारें मिले है. प्राचीन वैदिक सभ्यता भी सरस्वती नदी के किनारें बसी थी.

हरियाणा का इतिहास | History of Haryana
हरियाणा का इतिहास | History of Haryana

मध्यकालीन हरियाणा

हूण शासन के पश्चात् हर्षवर्धन द्वारा 7वीं शताब्दी में स्थापित राज्य की राजधानी कुरुक्षेत्र के पास थानेसर में बसाई गई थी. उसकी मौत के बाद गुर्जर प्रतिहार वंश ने वहां सहसन करना प्रारंभ कर दिया था. उन्होंने अपनी राजधानी कन्नौज बनाई थी.

See also  महेंद्रगढ़ जिला

यह स्थान दिल्ली के शासक के लिए महत्वपूर्ण था. पृथ्वीराज चौहान ने 12वीं शताब्दी में अपना किला हांसी व तरावड़ी में स्थापित किया था. मुहम्मद गोरी ने तराइन के दुसरे युद्ध में इस पर कब्ज़ा कर लिया था. इसके पश्चात् दिल्ली सल्तनत ने यहाँ कई सदियों तक शासन किया था.

यह भी देखे :- गोवा का इतिहास

राज्य की स्थापना

हरियाणा एक राज्य के रूप में 1 नवम्बर 1966 पंजाब पुनर्गठन अधिनियम के माध्यम से अस्तित्व में आया था. भारत सरकार ने 23 अप्रैल 1966 को पंजाब के तत्कालीन राज्य को निवासियों द्वारा बोली जाने वाली भाषाओँ के आधार पर विभाजित करने के विचार के बाद हरियाणा नए राज्य की सीमा निर्धारित करने के लिए न्यायमूर्ति जेसी शाह की अध्यक्षता में शाह आयोग की स्थापना की गई.

आयोग ने 31 मई 1966 ई. को अपनी रिपोर्ट दे दी, जिससे हिसार, महेंद्रगढ़, गुड़गांव, रोहतक व करनाल के तत्कालीन जिलों को नए राज्य हरियाणा का हिस्सा बनाया गया था. हरियाणा में 22 जिले है. हरियाणा का सबसे बड़ा शहर फरीदाबाद है. इसका क्षेत्रफल 44,212 किमी² है.

यह भी देखे :- छत्तीसगढ़ का इतिहास

हरियाणा का इतिहास FAQ

Q 2. हिन्दू मतों के अनुसार महाभारत का युद्ध कहाँ हुआ था?

Ans हिन्दू मतों के अनुसार महाभारत का युद्ध “कुरुक्षेत्र” में हुआ था.

Q 3. पानीपत के तीनों युद्ध किस राज्य में हुए थे?

Ans पानीपत के तीनों युद्ध हरियाणा में हुए थे.

Q 4. हरियाणा शब्द किससे मिलकर बना है?

Ans हरियाणा संस्कृत शब्द हरी व आयन से मिलकर बना है.

Q 5. हरी शब्द किसका सूचक है?

Ans हरी शब्द भगवान विष्णु का सूचक है.

Q 6. आयन शब्द का अर्थ क्या है?

Ans आयन शब्द का अर्थ घर है.

Q 7. विष्णु के स्वरुप भगवान श्री कृष्ण ने गीता का उपदेश कहाँ पर दिया था?

Ans विष्णु के स्वरुप भगवान श्री कृष्ण ने गीता का उपदेश कुरुक्षेत्र की भूमि पर दिया था.

Q 8. प्राचीन वैदिक सभ्यता किस नदी के किनारें बसी थी?

Ans प्राचीन वैदिक सभ्यता सरस्वती नदी के किनारें बसी थी.

Q 9. पृथ्वीराज चौहान ने अपना किला कहाँ स्थापित किया था?
See also  कैथल जिला

Ans पृथ्वीराज चौहान ने अपना किला हांसी व तरावड़ी में स्थापित किया था.

Q 10. हरियाणा एक राज्य के रूप में कब अस्तित्व में आया था?

Ans हरियाणा एक राज्य के रूप में 1 नवम्बर 1966 को अस्तित्व में आया था.

Q 11. हरियाणा एक राज्य के रूप में किस अधिनियम के माध्यम से अस्तित्व में आया था?

Ans हरियाणा एक राज्य के रूप में पंजाब पुनर्गठन अधिनियम के माध्यम से अस्तित्व में आया था.

Q 12. शाह आयोग ने अपनी रिपोर्ट कब दी थी?

Ans शाह आयोग ने 31 मई 1966 ई. को अपनी रिपोर्ट दी थी.

Q 13. हरियाणा में कितने जिले है?

Ans हरियाणा में 22 जिले है.

Q 14. हरियाणा का सबसे बड़ा शहर कौनसा है?

Ans हरियाणा का सबसे बड़ा शहर फरीदाबाद है.

Q 15. हरियाणा का क्षेत्रफल कितना है?

Ans हरियाणा का क्षेत्रफल 44,212 किमी² है.

लेख को पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने रिश्तेदारों व मित्रों के साथ में शेयर करना मत भूलना…..

यह भी देखे :- बिहार का इतिहास 

Follow on Social Media


केटेगरी वार इतिहास


प्राचीन भारतमध्यकालीन भारत आधुनिक भारत
दिल्ली सल्तनत भारत के राजवंश विश्व इतिहास
विभिन्न धर्मों का इतिहासब्रिटिश कालीन भारतकेन्द्रशासित प्रदेशों का इतिहास

Leave a Comment